scorecardresearch

संजय राउत बोले- शिवसेना छोड़ BJP में जाने वालों को मिल रही है बेल, अच्छी बात है लेकिन ‘टाइमिंग’…

एक जुलाई को ईडी की पूछताछ के बाद संजय राउत ने कहा कि मुझे भी गुवाहाटी जाने का प्रस्ताव मिला था, लेकिन मैं बालासाहेब ठाकरे का सैनिक हूं। इसलिए मैं वहां नहीं गया।

Shiv Sena, Maharashtra
शिवसेना के मुखपत्र सामना के कार्यालय में संजय राउत। (फोटो- निर्मल हरिंद्रन- इंडियन एक्सप्रेस)

महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे सरकार के गिरने और शिंदे सरकार के बनने के बाद सियासी तल्खी जारी है। उद्धव ठाकरे के करीबी और शिवसेना नेता संजय राउत का कहना है कि जो लोग किसी आरोप में पहले गिरफ्तार हुए थे, वे शिवसेना छोड़कर भाजपा के साथ गए तो उनको जमानत मिलने लगी। उन्होंने कहा कि “गलत आरोप में पकड़े गए थे। अच्छा है, मिलना चाहिए। लेकिन टाइमिंग का भी अपना मजा है।”

कहा कि “किसी को बेल मिला है। आज हमने देखा है कि भावना गौरे जी के एक करीबी को बेल मिला है। अच्छी बात है और लोगों को भी मिलना चाहिए जो अंदर गए हैं। कानूनी प्रक्रिया है।” संजय राउत का बयान अक्सर राजनीतिक सुर्खियां बन जाती हैं। शिवसेना का मुख पत्र सामना में भी वह अक्सर संपादकीय लिखते हैं और अपने लेखों में कड़े अंदाज में तीखे तेवर के साथ बात रखते हैं।

हाल ही में जब शिवसेना से बगावत करके एकनाथ शिंदे के साथ कई विधायक सूरत, गुवाहाटी आदि गए थे, तब भी संजय राउत ने एक के बाद एक कई तरह के बयान दिए थे। कहा यह भी जा रहा था कि उनके बयान से पार्टी में नाराजगी बढ़ रही है। उनके कुछ बयानों को लेकर मीडिया में काफी चर्चा भी रही। सोशल मीडिया में भी उस पर काफी कमेंट आए, लेकिन संजय राउत बयानबाजी जारी रखी। उनके कुछ बयान विवादास्पद भी रहे। हालांकि तमाम कोशिशों के बाद भी पार्टी टूटने से बच नहीं सकी।

शिवसेना के बागी गुट ने भाजपा के साथ मिलकर महाराष्ट्र में नई सरकार बना ली है। नई सरकार के शपथ लेने के बाद संजय राउत कह रहे हैं कि पार्टी के जो लोग जेल के अंदर हैं, उन्हें जल्द से जल्द जमानत मिलनी चाहिए। गलत इल्जाम में उन्हें जेल में बंद किया गया है।

इससे पहले शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने बड़ा बयान देते हुए कहा था कि गुवाहाटी जाने के लिए उन्हें भी ऑफर मिला था। एक जुलाई को ईडी की पूछताछ के बाद संजय राउत ने कहा कि मुझे भी गुवाहाटी जाने का प्रस्ताव मिला था, लेकिन मैं बालासाहेब ठाकरे का सैनिक हूं। इसलिए मैं वहां नहीं गया। राउत ने कहा कि जब आप सच के साथ हैं तो फिर डर क्यों है? शिवसेना में डरना मना है। जो होगा देखा जाएगा। गौरतलब है कि संजय राउत के इस बयान को लेकर सोशल मीडिया पर लोग उन्हें ट्रोल कर रहे हैं।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X