ताज़ा खबर
 

संबित पात्रा का सपा और कांग्रेस से सवाल: संसद में गौहत्या के खिलाफ कानून पर क्या आप करेंगे बीजेपी का समर्थन?

संबित पात्रा ने कहा, 'विरोधी चिल्लाते रहते हैं कि भाजपा अयोध्या में मंदिर कब बनवाएगी जैसे वो लोग मंदिर के लिए ईंट लेकर इंतजार कर रहे हों।'

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा।

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस और समाजवादी पार्टी से पूछा है कि अगर केंद्र सरकार गोवध के खिलाफ कानून लाती है तो क्या वो सदन में इसका समर्थन करेंगे? संबित पात्रा ने ये सवाल एक टीवी डिबेट शो में किया। संबित ने ये भी कहा कि विरोधी चिल्लाते रहते हैं कि भाजपा अयोध्या में मंदिर कब बनवाएगी जैसे वो लोग मंदिर के लिए ईंट लेकर इंतजार कर रहे हों। अलवर में गोकशी के शक में कथित तौर पर गोरक्षकों द्वारा पहलू खान नाम के एक शख्स की हत्या के बाद से ही गोवध के खिलाफ कानून बनाने पर बहस छिड़ गई है। इसी मुद्दे पर एक हिंदी न्यूज चैनल पर डिबेट हो रही थी क्या गोवध के खिलाफ कानून बन जाने से अराजकता रुक जाएगी।

इस मुद्दे पर बहस करने के लिए भाजपा की तरफ से संबित पात्रा, समाजवादी पार्टी की तरफ से अबू आजमी और कांग्रेस की तरफ से सचिन पायलट मौजूद थे। अबु आजमी ने भाजपा पर हमला करते हुए संबित पात्रा से कहा कि गौरक्षा के नाम पर निर्दोष लोगों को मारा जा रहा है। एक तरफ बीजेपी वाले गौरक्षा की बात करते हैं तो दूसरी तरफ इस पर पूरे देश में समान कानून लाने से कतरा भी रहे हैं। समाजवादी पार्टी के नेता के इस बयान पर संबित पात्रा भड़क उठे।

 

संबित पात्रा ने अबु आजमी से कहा कि, ‘इस बात पर विचार चल रहा है कि कानून बनना चाहिए या नहीं। लेकिन आप लोग जिस तरह से हल्ला मचा रहे हैं उसे देखकर मैं पूछना चाहता हूं कि जब संसद में गोहत्या के खिलाफ कानून आएगा तो क्या आप लोग सरकार का समर्थन करेंगे।’ संबित ने कहा कि हमसे आप सवाल पूछ रहे हैं कि कब बनाएंगे कानून, लेकिन आप लोग अपनी इच्छा भी तो बताइए। दोनों की बहस में मामला गरम होता देख शो की एंकर ने मोर्चा संभाल और मामले को थोड़ हलका किया।

आपको बता दें कि पिछले काफी समय से इस बात पर बहस चल रही है कि बीजेपी कुछ राज्यों में तो गौहत्या के खिलाफ कानूनी कार्रवाई तो कर रही है लेकिन वहीं कुछ राज्यों में उसने बीफ पर खुली छूट दे रखी है।

गुजरात: गौहत्या करने वालों को दी जाएगी उम्रकैद की सजा, देखें वीडियो:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App