ताज़ा खबर
 

UP फूलपुर, गोरखपुर उपचुनाव नतीजे 2018: जीत के बाद मायावती से मिलने पहुंचे अखिलेश यादव, घंटे भर चली मुलाकात

UP Phulpur, Gorakhpur Lok Sabha Bypoll Election Result 2018 (उप फूलपुर, गोरखपुर लोक सभा उपचुनाव नतीजे 2018): यहां दोनों नेताओं के बीच करीब एक घंटे तक मुलाकात चली। दोनों के बीच क्या बात हुई इस बारे में अभी साफ नहीं हो पाया है। हालांकि माना जा रहा है कि आने वाले चुनावों में भी मिलकर बीजेपी को मात देने की चर्चा जरूर हुई होगी।

मायावती के आवास पर अखिलेश यादव का काफिला। फोटो- ANI

गोरखपुर और फूलपुर में हुए लोकसभा उपचुनावों में समाजवादी पार्टी ने बड़ी जीत दर्ज की है। इस जीत के बाद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव बसपा सुप्रीमो मायावती से मिलने लखनऊ स्थित उनके आवास पर पहुंचे। यहां दोनों नेताओं के बीच करीब एक घंटे तक मुलाकात चली। दोनों के बीच क्या बात हुई इस बारे में अभी साफ नहीं हो पाया है। हालांकि माना जा रहा है कि आने वाले चुनावों में भी मिलकर बीजेपी को मात देने की चर्चा जरूर हुई होगी। अखिलेश यादव ने पहले ही साफ कर दिया था कि अगर इस उपचुनाव में बसपा के साथ मिलकर लड़ने से फायदा होता है तो आगे भी इसे जारी रखने का वह प्रयास करेंगे। अब जीत मिलने के बाद शायद वह इसी रणनीति पर बात करने मायावती के घर पहुंचे होंगे। बता दें कि जैसे ही अखिलेश यादव मायावती से मिलने के लिए निकले, बसपा सुप्रीमो के घर से एक गाड़ी उनकी अगवानी के लिए भी पहुंची। यूपी की राजनीति में इन दोनों नेताओं की मुलाकात बेहद अहम है। क्योंकि इसी मुलाकात से 2019 के लिए रास्ता निकलेगा।

इससे पहले मीडिया को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा था कि वो इस जीत से खुश हैं। उन्होंने कहा , ‘मैं दोनों लोकसभा क्षेत्र की जनता का धन्यवाद देना चाहता हूं। सबसे पहले बसपा प्रमुख मायावती जी का भी धन्यवाद देता हूं, उनकी पार्टी के समर्थन के कारण ही इन चुनावों में जीत हासिल हुई है। उनके अलावा जितनी भी पार्टियों ने समर्थन किया है, उनका भी शुक्रिया करता हूं।’

बसपा प्रमुख मायावती ने उपचुनावों में विपक्ष के सबसे मजबूत उम्मीदवार का समर्थन किया था। उन्होंने ‘एक हाथ ले और एक हाथ दे’ के फॉर्मूले की बात की थी। बसपा सुप्रीमो ने कहा था कि बसपा उपचुनाव में सबसे सक्षम प्रत्याशी का समर्थन करेगी, क्योंकि पार्टी का उम्मीदवार मैदान में नहीं है। इसके बदले में सपा सहित पूरे विपक्ष को राज्यसभा चुनाव में बसपा का समर्थन करना होगा। बदले में बसपा मध्य प्रदेश में कांग्रेस का समर्थन करेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App