ताज़ा खबर
 

मुलायक के सैफई महोत्‍सव में हंगामेबाजों ने डाला रंग में भंग, वाहनों पर जमकर पथराव, पंडाल में तोड़ी कुर्सियां

सैफई महोत्सव के आखिरी दिन उपद्रवियों ने जमकर उत्पात मचाया और रंग में भंग डालने में कोई कसर नहीं छोड़ी..
Author इटावा | January 13, 2016 07:39 am
पंडाल के बाहर उपद्रवियों ने पुलिस और प्रेस को निशाना बनाते हुए उनकी गाड़ियों पर जमकर पथराव किया

सैफई महोत्सव के आखिरी दिन उपद्रवियों ने जमकर उत्पात मचाया और रंग में भंग डालने में कोई कसर नहीं छोड़ी। सोमवार रात को सैफई महोत्सव की स्टार नाइट के दौरान मंच पर जब नामी-गिरामी कलाकार प्रदर्शन कर रहे थे, तब पंडाल के बाहर उपद्रवियों ने पुलिस और प्रेस को निशाना बनाते हुए उनकी गाड़ियों पर जमकर पथराव किया और बाहर खड़ी गाड़ियों को तोड़ डाला। पंडाल के अंदर भी उपद्रवियों के संगी-साथी थे जिन्होंने कई कुर्सियों को तोड़ दिया। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर हालात को संभालने की कोशिश की लेकिन उत्पाती तब तक तोड़फोड़ करके रफूचक्कर हो गए।

सैफई के पुलिस उपाधीक्षक अरुण कुमार दीक्षित ने घटना पर सिर्फ यही कहा कि कुछ उपद्रवियों ने पुलिस और मीडिया की गाड़ियों में तोड़फोड़ की है। उनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। पुलिस के आला अधिकारी और बाकी अमला इस दौरान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के अलावा सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव, प्रो.रामगोपाल यादव, शिवपाल सिंह यादव, बदायूं सांसद धर्मेंद्र यादव, तेज प्रताप यादव, माध्यमिक शिक्षा मंत्री बलराम यादव, डीजीपी जावेद अहमद और मुख्य सचिव आलोक रंजन जैसे लोगों की सुरक्षा में ही लगा रहा। जबकि उत्पातियों ने ब्लाक परिसर में खडेÞ पुलिस के वाहनों के अलावा न्यूज चैनलों की गाड़ियों व अन्य वाहनों को बुरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दिया। उपद्रवियों की तादाद भी अच्छी खासी बताई गई है। पांच पुलिसकर्मी घायल हुए और दरोगा भपेंद्र सिंह चौहान को गंभीर हालत में सैफई के मेडिकल कालेज में दाखिल कराया गया है।

हंगामे की वजहों के बारे में बताया जा रहा है कि बालीवुड सितारों के कार्यक्रम देखने के लिए उमड़ी भीड़ को नियंत्रित करने की पुलिस की मशक्कत से यह परेशानी हुई। वहीं एक और वजह यह पता चली है कि राजस्व लेखपाल के लिए इटावा के कई गांवों से पचास-पचास के आसपास लोग भर्ती हुए हैं लेकिन किसी-किसी गांव से एक भी भर्ती नहीं होने से गुस्साए गांव वाले नेताओं से मिलने के लिए चक्कर लगा रहे थे लेकिन सैफई महोत्सव में व्यस्त होने के कारण किसी से मुलाकात नहीं हो पा रही थी। नतीजतन महोत्सव के दौरान ऐसे ही लोगों ने जमकर हंगामा काटा। वैसे इस हंगामे की घटना को छोड़ दें तो मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के पैतृक गांव में आयोजित इस महोत्सव का समापन बॉलीवुड सितारों की चमक और धूम के बीच हुआ।

महोत्सव के समापन अवसर पर बॉलीवुड कलाकारों का जलवा देर रात तक कायम रहा। इस दौरान सैफ अली खान, करीना कपूर, रणवीर सिंह, सोनाक्षी सिन्हा, अर्जुन कपूर, परिणीति चोपड़ा और सोनम कपूर ने जहां मंच पर अपने नृत्य कार्यक्रम पेश किए वहीं जावेद अली, मीका और बादशाह ने अपने गीतों से उपस्थित लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इसके अलावा हास्य कलाकार सुनील ग्रोवर ने अपने कार्यक्रम से दर्शकों को खूब गुदगुदाया। महोत्सव में पिछले 18 दिन के दौरान पाकिस्तानी गायक राहत फतेह अली खान, गजल गायिका पीनाज मसानी व कई अन्य कलाकारों ने अपने कार्यक्रम पेश किए।

…इसलिए भड़का गुस्सा
हंगामे की एक वजह यह बताई गई कि राजस्व लेखपाल के पद के लिए इटावा के कई गांवों से लगभग पचास-पचास लोग भर्ती हुए हैं लेकिन किसी-किसी गांव से एक भी भर्ती नहीं होने से गुस्साए गांव वाले नेताओं से मिलने के लिए चक्कर लगा रहे थे। जबकि सैफई महोत्सव में नेताओं-अधिकारियों के व्यस्त होने के कारण किसी से मुलाकात नहीं हो पा रही थी। नतीजतन ऐसे ही लोगों ने महोत्सव के दौरान जमकर हंगामा काटा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.