ताज़ा खबर
 

निगम के 1672 स्कूलों में से सिर्फ 114 में सीसीटीवी, ऐसा है बच्चों की सुरक्षा का हाल

दिल्ली नगर निगम के स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए सालों से हंगामा हो रहा है। निगम की आम सभा और स्थायी समिति में सत्तापक्ष और विपक्ष इस मामले में कई बार प्रश्न उठा चुके हैं। बावजूद इसके स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे लगाने से लेकर सुरक्षा प्रहरी रखने तक सिर्फ कवायद चल रही है।

Author April 23, 2018 05:07 am
राजस्थान में फीस एक्ट के मुताबिक हर स्कूल में फीस निर्धारण समिति बनेगी। प्रतीकात्मक तस्वीर।

देशभर में बच्चों की सुरक्षा को लेकर बात की जा रही है, लेकिन दिल्ली नगर निगमों के सभी स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा का मामला अब भी हकीकत से कोसों दूर है। उत्तरी, दक्षिणी और पूर्वी नगर निगमों में करीब आठ लाख बच्चे प्राथमिक स्कूलों में पढ़ते हैं, लेकिन इनकी सुरक्षा भगवान भरोसे हैं। बच्चों की सुरक्षा के प्रति सीसीटीवी लगाने की महत्वाकांक्षी परियोजना पूरी नहीं हो पाई है। यह हालत तब है जब देश भर में बच्चियों से साथ हो रहे बलात्कार, छेड़छाड़ और हत्या की घटनाओं के बाद हंगामा और प्रदर्शन रुक नहीं रहा है। दिल्ली नगर निगम के स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए सालों से हंगामा हो रहा है। निगम की आम सभा और स्थायी समिति में सत्तापक्ष और विपक्ष इस मामले में कई बार प्रश्न उठा चुके हैं। बावजूद इसके स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे लगाने से लेकर सुरक्षा प्रहरी रखने तक सिर्फ कवायद चल रही है। निगमों के अधिकारिक आंकड़ों ने खुलासा किया है कि अब भी कई स्कूलों में कैमरे लगने शुरू नहीं हो पाए हैं। जहां कैमरे लगाने का काम शुरू हुआ है वहां भी यह बहुत धीमी गति से चल रहा है।

उत्तरी निगम के स्कूल
यहां 715 स्कूलों में सिर्फ 30 में सीसीटीवी कैमरे लगाने की प्रक्रिया शुरू की गई है। यहां 2 लाख से अधिक विद्यार्थी पढ़ते हैं। निगम की स्थायी समिति के अध्यक्ष जोगीराम जैन कहते हैं कि दिल्ली सरकार ने सीसीटीवी कैमरे की रकम के प्रस्ताव को नामंजूर कर दिया है। एक कैमरे पर करीब एक लाख 32 हजार रुपए खर्च आता है और आर्थिक रूप से कमजोर होने के कारण सभी स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे लगाना संभव नहीं है। बावजूद इसके निगम कोशिश कर रहा है। उत्तरी निगम की शिक्षा समिति के निदेशक हेमंत कुमार हेम कहते हैं कि दिल्ली सरकार से 23 करोड़ रुपए पुर्नबजट के रूप में मांग की गई है। हर स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा के मद्देनजर चार सीसीटीवी और तीन पाली में चौकीदार लगाने की कवायद चल रही है।

दक्षिणी निगम के स्कूल
दक्षिणी नगर निगम के 581 स्कूलों में सिर्फ 64 में सीसीटीवी कैमरे लगाने का काम शुरू हुआ है। यहां दो लाख 70 हजार बच्चे पढ़ाई करते हैं। शिक्षा समिति के अध्यक्ष सुनील सहदेव कहते हैं कि निगम अपनी तरफ से दस करोड़ रुपए खर्च कर तीन महीने के अंदर सभी स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे लगाने की प्रक्रिया शुरू कर देंगे।

पूर्वी निगम के स्कूल
पूर्वी दिल्ली नगर निगम शिक्षा समिति की अध्यक्ष हिमांशी पांडेय ने बताया कि दो लाख छात्रों के इस निगम के 365 स्कूलों और 11 सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों के 20 स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जा चुके हैं। अभी यहां सुरक्षा के मद्देनजर सिविल डिफेंस की तैनाती भी की जानी है। इस बजट में एक करोड़ रुपए को बढ़ाकर तीन करोड़ रुपए सीसीटीवी कैमरे के लिए रखे गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App