ताज़ा खबर
 

RTI कार्यकर्ता ने मांगी बारिश की जानकारी, सरकार ने GST लगाकर थमा दिया 20 लाख का बिल

तेलंगाना के एक आरटीआई कार्यकर्ता को डेटा के लिए TSDPS ने उससे 20 लाख रुपए की मांग की है। इस पर कार्यकर्ता का कहना है कि आरटीआई आवेदन के लिए इतनी बड़ी रकम मांगने का क्या मतलब है।

Author निजामाबाद | Published on: August 19, 2019 8:53 AM
आरटीआई (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

तेलंगाना के निजामाबाद में एक आरटीआई कार्यकर्ता के साथ अजीबोगरीब वाकया हुआ। बता दें कि कार्यकर्ता ने आरटीआई के जरिये बारिश की जानकारी मांगी थी लेकिन अधिकारियों ने इसके लिए उसे 20 लाख रुपए की रकम चुकाने की रसीद थमा दी। कार्यकर्ता का आरोप है कि वह ऐसे डाटा कई बार अन्य राज्यों से निकाल चुका है, लेकिन किसी ने उससे पैसे की मांग नहीं की। कार्यकर्ता का यह भी कहना है कि आरटीआई में जीएसटी की मांग करना भी वह पहली बार सुन रहा है। कार्यकर्ता का कहना है कि वह पैसे नहीं देगा और साथ ही अधिकारियों से डाटा के लिए इतनी भारी रकम मांगने का कारण भी पूछा है।

क्या है पूरा मामलाः आरटीआई कार्यकर्ता सेरुपल्ली राजेश ने जून में अपने सर्वे के लिए एक आरटीआई आवेदन किया था। उन्होंने यह आवेदन निजामाबाद के मुख्य योजना अधिकारी (CPO) को सौंपा था। वे जिले के ऑटोमेटिक वेदर स्टेशन (AWS) को हिसाब से बारिश का डाटा निकलवाना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने 01 जून 2018 से 31 मई 2019 का डेटा मांगा था। उनका आरोप है कि तेलंगाना स्टेट डेवलपमेंट प्लानिंग सोसाइटी (TSDPS) ने उन्हें कोई डेटा नहीं दिया बल्कि उन्हें इस आरटीआई आवेदन की जानकारी को पाने के लिए एक रसीद थमा दी जिसमें उन्हें 20, 31 960 रुपए को भुगतान करने को कहा गया है।

National Hindi News, 19 August 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम अहम खबरों के लिए क्लिक करें

आरटीआई डेटा के लिए जीएसटी भी लगायाः आरटीआई कार्यकर्ता राजेश ने यह भी बताया कि उन्हें तेलंगाना सचिवालय के सांख्यिकी विभाग में भी भेजा गया पर उन्हें वहां भी कोई जानकारी नहीं दी गई। उन्होंने बताया कि वह क्लाइमेट चेंज पर एक सर्वे कर रहें हैं जो किसानों के लिए काफी लाभदायक होगा। इसके लिए उन्हें यह डाटा की जरूरत पड़ी है। उनका आरोप है कि टीएसडीपीएस उन्हें डाटा तब देगी जब उन्हें 3500 रुपए प्रति माह के दर पर 12 माह की रकम जीएसटी 3,09,960 रुपए के साथ जब वे जमा करेंगे। उनका यह भी कहना है कि टीएसडीपीएस डाटा के लिए उनसे जीएसटी भी चार्ज किया जा रहा है जो कि आश्चर्यजनक है। उन्हें कभी भी ऐसी जानकारी पाने के लिए जीएसटी चार्ज नहीं किया है।

Bihar News Today, 19 August 2019: बिहार से जुड़ीं सभी खास खबरों के लिए क्लिक करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Bihar News Today, 19 August 2019: पूर्व बिहार सीएम जगन्नाथ मिश्र का निधन, लंबी बीमारी के बाद दिल्ली में ली अंतिम सांस
2 National Hindi News, 19 August 2019 Updates: कांग्रेस नेता भूपेंद्र हुड्डा बोले- पार्टी भटक गई, पहले जैसी नहीं रही