ताज़ा खबर
 

संघ के दिग्गज कृष्ण गोपाल बोले- दारा शिकोह ने राज किया होता तो भारत में ज्यादा फलता-फूलता इस्लाम, अच्छे से समझ पाते हिंदू

कृष्ण गोपाल ने कहा, 'मैं पूरे विश्वास के साथ कह सकता हूं कि यदि दारा शिकोह ने भारत में शासन किया होता तो देश में इस्लाम ज्यादा फलता-फूलता और हिंदू भी इस्लाम को बेहतर तरीके से समझ पाते।'

Krishna Gopalआरएसएस पदाधिकारी कृष्ण गोपाल (फोटो- एएनआई)

दारा शिकोह को भारत में हिंदू-मुस्लिम एकता की मिसाल बताने के लिए संघ और बीजेपी ने दिल्ली में एक कार्यक्रम का आयोजन किया था। बुधवार (11 सितंबर) को हुए इस कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संयुक्त महासचिव डॉक्टर कृष्ण गोपाल ने भी शिरकत की। उन्होंने सभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘मैं पूरे विश्वास के साथ कह सकता हूं कि यदि दारा शिकोह ने भारत में शासन किया होता तो देश में इस्लाम ज्यादा फलता-फूलता और हिंदू भी इस्लाम को बेहतर तरीके से समझ पाते।’

भागवत-मदनी की मुलाकात के बाद हुआ कार्यक्रमः प्राप्त जानकारी के मुताबिक कृष्ण गोपाल ने जब यह बयान दिया तब सभा में संघ-बीजेपी के कई दिग्गज मौजूद थे। इनमें केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी भी शामिल हैं। संघ प्रमुख मोहन भागवत और जमीयत लीडर मौलाना अरशद मदनी के बीच करीब डेढ़ घंटे चली मुलाकात के बाद यह कार्यक्रम आयोजित करने का फैसला लिया गया। बताया जा रहा है कि दोनों दिग्गजों के बीच हिंदू-मुस्लिम एकता को लेकर बातचीत हुई थी।

‘दारा शिकोह अच्छे मुस्लिम’: गौरतलब है कि बीजेपी इन दिनों दारा शिकोह को अच्छे मुस्लिम के रूप में प्रचारित करने में जुटी है। सोमवार को इसी कड़ी में ‘दारा शिकोहः हीरो ऑफ द इंडियन सिंक्रेटिस्ट ट्रेडिशन्स’ नाम से एक गोष्ठी आयोजित की गई। इसका आयोजन संघ के ‘एकेडमिक्स फॉर नेशन’ ने किया था। इससे पहले बीजेपी ने ही डलहौजी रोड का नाम बदलकर दारा शिकोह के नाम पर रखा था।

National Hindi News, 12 September 2019 Top Updates LIVE: खास खबरों की लाइव अपडेट्स सिर्फ एक क्लिक पर

Mumbai, Gujarat, MP Rains, Weather Forecast Today Live Updates: तमाम जानकारियों के लिए क्लिक करें

छोटे भाई ने किया था दारा शिकोह का सिर कलमः दारा शिकोह मुगल बादशाह जहांगीर के बड़े बेटे थे। उनके छोटे भाई औरंगजेब ने सिर कलम कर दिया था। इसके बाद औरंगजेब ने मुगलिया सल्तनत की गद्दी संभाली थी। दिल्ली में कुछ समय पहले तक औरंगजेब रोड भी था, जिसका नाम बदलकर अब पूर्व राष्ट्रपति डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम के नाम पर रख दिया गया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Mumbai, Gujarat, MP Rains, Weather Forecast Today Updates: टोटका- पहले बारिश के लिए कराई मेंढ़कों की शादी, अब रोकने के लिए के लिए 2 महीने बाद करवाया तलाक
2 छत्तीसगढ़: कांग्रेस विधायक के विवादित बोल, कहा- अधिकारी गड़बड़ करे, तो जूते मारो
3 DRDO ने किया मैन पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का परीक्षण, ढाई किमी के रेंज में चल रहे टैंक को मार गिराएगी
ये पढ़ा क्या...
X