ताज़ा खबर
 

बंगाल: बीजेपी कार्यकर्ता को शादी का झांसा दे बनाए संबंध, आरएसएस की सहयोगी संस्‍था का वरिष्‍ठ नेता गिरफ्तार

महिला ने पुलिस में दी अपनी शिकायत में कहा है कि आरोपी ने उसे यातना दी और धमकी दी कि अगर किसी से इस बारे में बात की तो गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। शिकायतकर्ता ने आरएसएस के वरिष्ठ नेता बिद्युत चटर्जी, शिव प्रकाश और सुब्रत चटर्जी के नाम भी लिए।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) की सहयोगी संस्था अखिल भारतीय ग्राहक पंचायत (अबीजीपी) के एक वरिष्ठ नेता को सोमवार (17 सितंबर) को दिल्ली से बंगाल की भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) कार्यकर्ता से बार-बार बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार किया गया। महिला ने अमलेंदु चट्टोपाध्याय के खिलाफ बीते 31 अगस्त को बलात्कार का मामला दर्ज कराया था। महिला ने आरोप लगाया कि अमलेंदु ने शादी का झांसा देकर उस पर यौन हमला किया। महिला ने पुलिस में दी अपनी शिकायत में कहा है कि आरोपी ने उसे यातना दी और धमकी दी कि अगर किसी से इस बारे में बात की तो गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। शिकायतकर्ता ने आरएसएस के वरिष्ठ नेता बिद्युत चटर्जी, शिव प्रकाश और सुब्रत चटर्जी के नाम भी लिए। न्यूज 18 की खबर के मुताबिक कोलकाता के जेसीपी प्रवीण त्रिपाठी ने आरोपी के गिरफ्तार होने की पुष्टि की और कहा, ”उन्हें दिल्ली से गिरफ्तार किया गया, एक महिला ने उनके खिलाफ शिकायत की थी और हम इसमें आगे की जांच कर रहे हैं।” उन्होंने कहा, ”अमलेंदु के खिलाफ बलात्कार और धोखाधड़ी के आरोप हैं। शिकायतकर्ता ने बिद्युत चटर्जी और शिव प्रकाश के भी नाम लिए हैं। हम आरोपों के बारे में ज्यादा विवरण जुटाने की कोशिश कर रहे हैं और हमारी टीम मामले की पड़ताल कर रही है।”

HOT DEALS

बंगाल बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने इस गिरफ्तारी की निंदा की है और कहा कि हो सकता है कि तृणमूल कांग्रेस के इशारे पर शिकायत की गई हो। उन्होंने कहा, ”हम अपने वकीलों से परामर्श कर रहे हैं और हमें जानबूझकर परेशान करने के इस प्रयास के खिलाफ हम कानूनी रूप से लड़ने के लिए आगे बढ़ेंगे।” टेलीग्राफ की खबर के मुताबिक आरोपी के खिलाफ महिला को शादी का झूठा झांसा देने, रेप करने, धोखा देने, आपराधिक विश्वासघात करने, गर्भपात के लिए मजबूर करने और आपराधिक साजिश रचने जैसे आरोपों में मामला दर्ज किया गया है। पुलिस में दी गई शिकायत के मुताबिक एफआईआर में जिन दो नेताओं के नाम शामिल नहीं हैं, उन्होंने सेंट्रल कोलकाता स्थित एक होटल में महिला को मिलने के लिए बुलाया था। होटल पहुंचने पर महिला को वहां शिव प्रकाश और मुखर्जी मिले।

पुलिस में दर्ज शिकायत के मुताबिक दोनों ने महिला का रेप करने की कोशिश की तभी चट्टोपाध्याय मौके पर पहुंच गए और उसे उनके चंगुल से आजाद कराया लेकिन घटना के बारे में किसी न बताने की धमकी दी। रिपोर्ट के मुताबिक बाद में चट्टोपाध्याय का महिला के घर आना-जाना हो गया और दोनों के बीच शारीरिक संबंध पनप गए, जिसे देखते हुए चट्टोपाध्याय ने महिला से शादी करने का वादा कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App