ताज़ा खबर
 

पीएम के बयान पर बोले भागवत- भगवान राम समय बदलने में समय नहीं लेते

राम मंदिर पर दिए गए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बयान पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने प्रतिक्रिया दी है।

मोहन भागवत और नरेन्द्र मोदी, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

राम मंदिर पर दिए गए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बयान पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने प्रतिक्रिया दी है। पीएम के बयान पर मोहन भागवत ने कहा कि पीएम ने चाहे जो भी कहा हो लेकिन मेरा पक्ष साफ है। हमारी राम में आस्था है और दृढ़ता से इस बात को मानते हैं कि राम मंदिर उस ही जगह पर बनना चाहिए।

भैय्याजी जोशी के बयान का करता हूं समर्थन: दरअसल बुधवार को एक स्कूल कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि वो भैय्याजी महाराज के बयान का समर्थन करते हैं। इसके साथ ही आरएसएस प्रमुख ने कहा कि अयोध्या में सिर्फ राम मंदिर बनेगा। भगवान राम में हमारी आस्था है। वो समय बदलने में समय नहीं लेते।

लोक सभा चुनाव पर किया रिएक्ट: राम मंदिर मुद्दे के साथ ही मोहन भागवत ने लोक सभा चुनावों के परिणाम को लेकर भी अनिश्चितता जाहिर की। इसके साथ ही शैक्षणिक नीतियों पर उन्होंने कहा कि ऐसा सुनने में आया था कि एक नई नीति बन हई है लेकिन अब समय नहीं बचा है। इसका कार्यान्वयन इस बात पर निर्भर करता है कि भविष्य में चीजें कैसे आकार लेती हैं।

क्या बोले थे भैय्याजी जोशी: दरअसल जोशी का बयान पीएम मोदी के बयान के बाद आया था। जिसमें जोशी ने कहा था कि हम पहले ही मांग रख चुके हैं कि राम मंदिर निर्माण के लिए कानून बनाया जाए। जो सत्ता में हैं उन्होंने भी कहा था कि राम मंदिर बनना चाहिए।

विहिप धर्मसभा में लेंगे हिस्सा: बता दें कि विहिप के बयानों से ये तो अंदाजा लगाया जा सकता है कि वो अदालती फैसले का अनंत काल तक इंतजार नहीं कर सकते हैं। वहीं गौरतलब है कि राम मंदिर मुद्दे को लेकर 31 जनवरी को जो विहिप की धर्मसभा हो रही है उसमें खुद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत हिस्सा लेंगे।

Next Stories
1 मुंबईः मॉडल के साथ रेप कर पति को भेजे थे अश्लील फोटो, कास्टिंग डायरेक्टर को उम्रकैद
2 Karunya Plus Lottery Results: आज इस लॉटरी नंबर को मिले 80 लाख रुपये, ये है बाकी विजेताओं की लिस्ट
3 खदान में फंसे मजदूरों पर मेघालय सरकार को SC की फटकार- ‘जिंदा हैं या नहीं, जैसे भी हैं बाहर निकालो, हम रेस्क्यू से संतुष्ट नहीं’
ये पढ़ा क्या?
X