ताज़ा खबर
 

RSS चीफ मोहन भागवत ने अमेरिका को पेरिस समझौते से अलग होने पर लगाई लताड़

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने आज अमेरिका को पेरिस जलवायु समझौते से अलग होने के उसके फैसले के लिए लताड़ा।

RSS चीफ मोहन भागवत

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने आज अमेरिका को पेरिस जलवायु समझौते से अलग होने के उसके फैसले के लिए लताड़ा।
उन्होंने कहा, जो पर्यावरण और विकास को मिलाने की बात करते हैं वो हाल में अलग हो गए…जब उनके देश के निजी हित प्रभावित हुए तो वे बाहर हो गए… जैसे कि पेरिस समझौता। भागवत ने कहा, हिंदू समुदाय और हिंदू राष्ट्र अपनी निजी क्षति की कीमत पर भी इस रास्ते पर चलते रहे। भारत दुनिया के लिए जीता है, यह पूरे विश्व का गुरू है। भारत ने जो जिम्मेदारी पहले छोड़ दी थी अब उसे अपनी वह जिम्मेदारी संभालनी चाहिए। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने हाल में पेरिस समझौते से अलग होने की घोषणा की थी। भागवत यहां संघ के प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे।

गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका को पेरिस जलवायु समझौते से अलग कर लिया। इस तरह ग्लोबल वार्मिंग से मुकाबले में अंतरराष्ट्रीय प्रयासों से अमेरिका अलग हो गया। ट्रंप ने व्हाइट हाउस के रोज गार्डन में कहा, हमारे नागरिकों के संरक्षण के अपने गंभीर कर्तव्यों को पूरा करने के लिए अमेरिका पेरिस जलवायु समझौते से हट जाएगा…हम उससे हट रहे हैं और फिर से बातचीत शुरू करेंगे। ट्रंप ने कहा कि वह चाहते हैं कि जलवायु परिवर्तन को लेकर पेरिस समझौते में अमेरिकी हितों के लिए एक उचित समझौता हो।

डोनाल्ड ट्रंप के इस फैसले की अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा की भी प्रतिक्रिया आई है। बराक ओबामा ने पेरिस जलवायु परिवर्तन समझौते से अमेरिका को अलग करने के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के फैसले की निन्दा की है । उन्होंने एक बयान में ट्रंप की आलोचना करते हुए आगाह किया कि समझौते का पालन न कर अमेरिका भविष्य की पीढ़ियों के भविष्य को खारिज करेगा । ट्रंप ने आज अमेरिका को पेरिस जलवायु परिवर्तन समझौते से अलग कर लिया ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App