ताज़ा खबर
 

विदेशों में भारतीयों पर छिटपुट हमलों को बढ़ाचढ़ा कर पेश कर रहा है – RRS पदाधिकारी

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरसएसएस) के विदेशी मामलों के एक पदाधिकारी ने मीडिया पर विदेशों में भारतीयों पर होने वाले ‘‘छिटपुट हमलों’’ को ‘‘बढ़ाचढ़ा’’ कर पेश करने का आरोप लगाया है।

Author March 15, 2017 11:59 am
आरएसएस नेता ने कहा कि मीडिया कई बार घटना को बढ़ाचढा कर पेश करता है। (सांकेतिक फोटो)

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरसएसएस) के विदेशी मामलों के एक पदाधिकारी ने मीडिया पर विदेशों में भारतीयों पर होने वाले ‘‘छिटपुट हमलों’’ को ‘‘बढ़ाचढ़ा’’ कर पेश करने का आरोप लगाया है। आरएसएस विश्व विभाग के समन्वयक सदानंद सप्रे ने विदेश में भारतीयों पर हमलों की हालांकि तीखी आलोचना की और कहा कि ऐसी घटनाओं पर रोक लगाई जानी चाहिए। उन्होंने कल कहा, ‘‘मीडिया कई बार घटना को बढ़ाचढा कर पेश करता है। हां कुछ घटनाएं हैं प्रचार करने के लायक…यह मीडिया की प्रकृति है।’’

अमेरिका में हाल ही में भरतीयों पर हुए हमलों के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा,‘‘ परिदृश्य का सामान्यीकरण न करिए।’’सप्रे ने युगांडा में 1960 के दशक में भारतीयों पर हुए हमलों का जिक्र करते हुए कहा कि वहां प्रत्येक भारतीय पर हमला किया गया और उसे देश से बाहर निकाला गया खासतौर पर ईदी अमीन के शासन के दौरान। उन्होंने प्रश्नात्मक लहजे में पूछा,‘‘ क्या यह सब अमेरिका में हो रहा हैं? यह यह आस्ट्रेलिया में हो रहा है?’’

सप्रे ने कहा,‘‘हमें सब कुछ एक ही ब्रैकेट में नहीं रखना चाहिए। भारतीयों की रक्षा के लिए वहां बहुत से अमेरिकी हैं ।’’सप्रे यहां आयोजित एक कार्यक्रम के बाद आयोजित बातचीत सत्र में अमेरिका में भारतीयों पर हमलों के संबंध में पूछे जा रहे प्रश्नों का उत्तर दे रहे थे। आस्ट्रेलिया के मेल्बर्न में भारतीयों पर हमलों का जिक्र करते हुए सप्रे ने कहा कि कुछ मामलों में गलती भरतीयों की होती है।

उन्होंने कहा,‘‘ मेल्बर्न घटना पर मीड़िया की रिपोर्टों से ऐसा लगता था कि सभी भरतीयों को निशाना बनाया जा रहा है, इसलिए मैने स्थानीय लोगों से बातचीत की और उन्होंने कहा ऐसा नहीं है। इस मामले में ऐसा नहीं है कि सभी भारतीयों को निशाना बनाया जा रहा है। चीजों को बढ़ाचढ़ा कर पेश करना मीड़िया की आदत है।’’

बता दें हाल के दिनों में भारतीयों पर दुनिया के कई देशों में हमलों की खबर आई थी। ऐसी ही एक खबर थी अमेरिका से जहां 22 फरवरी को कंसास के एक बार में एडम पुरिन्टन नाम के शख्स ने खुलेआम गोलियां चलाईं। इसमें भारतीय मूल के इंजीनियर श्रीनिवास कुचीभोतला की मौत हो गई थी। उनके दोस्त आलोक मदसानी और बचाने वाला एक अमेरिकी इयान ग्रिलट घायल हो गए थे। गोली चलाते वक्त एडम ने कहा था- “मेरे देश से निकल जाओ।”

RSS नेता जगदीश गगनेजा का निधन, डेढ़ महीने पहले मारी गई थी गोली

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App