ताज़ा खबर
 

Haryana: बहन की शादी में जाने को नहीं मिली छुट्टी, डॉक्टर भाई ने फांसी लगाकर दी जान

मृतक के साथियों ने बताया कि वह अपनी बहन के लिए शादी का जोड़ा खरीदकर लाए थे। उन्हीं कपड़ों में से एक को फंदा बनाकर उसने जान दी है। डॉक्टर के सुसाइड के बाद पीजीआई में हालात तनावपूर्ण हो गए।

haryanaघटनास्थल पर पुलिस (फोटो सोर्स: ANI)

हरियाणा के रोहतक में पीजीआई के रेजीडेंट डॉक्टर्स हॉस्टल में रह रहे एक डॉक्टर के आत्महत्या करने की खबर है। बताया जा रहा है कि वह अपनी बहन की शादी में जाने के लिए एचओडी द्वारा छुट्टी न मिलने से नाराज था। जिससे उसने फांसी लगाकर कथित रूप से अपनी जान दे दी। बता दें कि मृतक पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज में पीजी तृतीय वर्ष में पढ़ाई कर रहा था। मृतक के साथियों ने बताया कि वह अपनी बहन के लिए शादी का जोड़ा खरीदकर लाए थे। उन्हीं कपड़ों में से एक को फंदा बनाकर उसने जान दी है। डॉक्टर के सुसाइड के बाद पीजीआई में हालात तनावपूर्ण हो गए। फिलहाल मौके पर पुलिस ने पहुचंकर शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

क्या है मामला: कर्नाटक के रहने वाले डॉक्टर ओंकार रोहतक के पीजीआई के रेजीडेंट डॉक्टर्स हॉस्टल में रह रहे थे। वे पंडित भागवत दयाल शर्मा पोस्ट ग्रैजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (PGIMS) में पीजी तृतीय वर्ष में अध्ययनरत भी थे। इस बीच उन्होने कथित रूप से उन्होंने अपने हॉस्टल में फांसी लगाकर जान दे दी। फिलहाल पुलिस को ओंकार के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। लेकिन उनके साथियों ने बताया कि डिपार्टमेंट की हेड डॉ. गीता गठवाल ने उन्हें बहन की शादी, के लिए छुट्टी देने से इनकार कर दिया था, जिससे वो नाराज था।

National Hindi News, 15 JUNE 2019 LIVE Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

Bihar News Today, 15 june 2019: आज की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

बहन के लिए खरीदे शादी के जोड़े से लगाई फांसी: बताया जा रहा है कि ओंकार की मौत के बाद हंगामा कर रहे सीनियर और जूनियर रेजीडेंट डॉक्टर्स ने आरोप लगाया है कि विभाग की एचओडी गीता गठवाल ने ओंकार को बहन की शादी में जाने के लिए छुट्टी नहीं दी। जिसकी वजह से उसने शादी के जोड़े के कपडे से फंदा बनाकर आत्महत्या कर ली।

प्रोफेसर सस्पेंड: बताया जा रहा है कि घटना के बाद PGIMS प्रशासन ने आरोपी प्रफेसर गीता को सस्पेंड कर दिया है। फिलहाल गीता के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है लेकिन कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। इस बीच शुक्रवार को ओंकार के परिजन कैंपस पहुंचे और शव को लेकर कर्नाटक रवाना हो गए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Bihar: ‘चमकी’ बुखार का कहर, अब तक 63 बच्चों की मौत
2 Weather: आंधी और तेज बारिश का कहर, मुंबई में पेड़ गिरने से 3 की मौत
3 ..तो क्या ममता बनर्जी के खिलाफ बयान देने के चलते जेडीयू नेता अजय आलोक को छोड़ना पड़ा प्रवक्ता का पद
ये पढ़ा क्या?
X