ताज़ा खबर
 

देश में पहली बार: सीवर की सफाई होगी रोबोट्स के जिम्मे, कैमरा-WIFI से होगा लैस; युवा इंजीनियर्स ने किया है तैयार

साफ-सफाई के लिए इसमें बकेट सिस्टम (बाल्टी) भी होगा, जो कूड़ा इकट्ठा करेगा।
यह रोबोट तीन लोगों के बराबर का काम आधे घंटे के भीतर निपटाएगा। (फोटो युवा इंजीनियर्स के स्टार्टअप की साइट से ली गई है।)

आने वाले दिनों में लोग सीवर साफ नहीं करेंगे। यह काम इंसानों के बजाय रोबोट्स के जिम्मे होगा। देश में पहली बार इस तरह का बड़ा परिवर्तन होगा। खास बात है कि यह कैमरा, वायर, वाईफाई और ब्लूटूथ सरीखी सुविधाओं से लैस होगा। साफ-सफाई के लिए इसमें बकेट सिस्टम (बाल्टी) भी होगा, जो कूड़ा इकट्ठा करेगा। यही नहीं, यह कम समय में अधिक काम करेगा। सबसे रोचक बात इस रोबोट को किसी नामी कंपनी या विदेशी संस्थान ने नहीं बनाया है। बल्कि इसे अपने देश के ही युवा इंजीनियर्स ने मिलकर तैयार किया है। मामला दक्षिण भारत के केरल राज्य से जुड़ा है। यहां कुछ युवा इंजीनियर्स ने मिलकर बीते दिनों जेनरोबोटिक्स नाम के स्टार्टअप की शुरूआत की थी। उन्होंने ही इस रोबोट को सीवर की सफाई के लिए तकनीक से लैस किया है। रोबोट का नाम बंदीकूट रखा गया है। यह सीवर में न केवल उतरकर सफाई करेगा। बल्कि अंदर के स्थिति को भी बयां करेगा। चूंकि इंजीनियर्स ने इस रोबोट में कैमरा भी लगाया है। ऐसे में सीवर के अंदर की स्थिति का पता आसानी से लगाया जा सकेगा। कहां कितनी गंदगी है और कहां पर अधिक काम किया जाना है, ये सारी बातें रोबोट में लगे कैमरे के जरिए स्पष्ट हो सकेंगी।

बंदीकूट कुल 80 किलोग्राम का है। यह फिलहाल लाल और पीले रंग का है। इसके दो हाथ और दो पैर हैं। रोबोट में एक बकेट सिस्टम भी लगा है, जो कूड़े को एकत्रित करेगा। शॉवेल और जेट पाइप सरीखे टूल्स भी इसे और दमदार बनाते हैं। यही नहीं, वाई-फाई और ब्लूटूथ जैसे मॉड्यूल्स भी बंदीकूट में हैं। युवा इंजीनियर्स के इस कमाल के आविष्कार पर केरल जल प्राधिकरण ने 50 रोबोट्स का ऑर्डर दिया है।

जेनरोबोटिक्स नाम के स्टार्टअप के बैनर तले कुछ युवा इंजीनियर्स ने इस रोबोट को तैयार किया है। (फोटोः genrobotics)

वहीं, इसे बनाने वाले इंजीनियर्स का कहना है कि एक रोबोट तीन लोगों का काम सिर्फ आधे घंटे निपटा सकता है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह रोबोट बनाने का काम जल्द ही शुरू किया जाएगा। मार्च महीने में अट्टूकल पोंगल उत्सव के वक्त इसे तिरुवनंतपुरम के सीवर होल्स की सफाई के दौरान लॉन्च किया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.