ताज़ा खबर
 

DELHI: चोरी की जांच पड़ताल कर रही थी पुलिस, IGI एयरपोर्ट की सुरक्षा चूक के बारे में लगा पता, जानें पूरा मामला

दिल्ली पुलिस ने इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर एक अमेरिकी नागरिक का बैग ढूंढते हुए कुछ खामियों का पता लगाया है। दिल्ली पुलिस के डीएसपी ने इस मामले में दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड में जानकारी दी है।

Author नई दिल्ली | May 24, 2019 5:48 PM
इंदिरा गांधी एयरपोर्ट फोटो सोर्स- जनसत्ता

पुलवामा आतंकी हमले के बाद से देश के सभी हवाई अड्डे हाई अलर्ट पर हैं। लेकिन बावजूद इसके दिल्ली पुलिस ने इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (आईजीआई) के कार पार्क में सुरक्षा व्यवस्था में कुछ  खामियां पाई हैं। दरअसल पुलिस एक चोरी के मामले की जांच कर रही थी जिसमें हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के एक प्रोफेसर शामिल थे। उस दौरान उन्हें इस खामी का पता चला।

सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में नहीं: दरअसल एक ऑडिट के दौरान पता चला कि आईजीआई एयरपोर्ट के टर्मिनल -3 एमएलसीपी के पार्किंग स्पेस में कुछ ऐसी जगहें भी हैं जहां पर सीसीटीवी कैमरों की निगरानी नहीं हो पाती है। ऐसे में अपराध के मामलों को सुलझाने में पुलिस की मदद करने के लिए इन जगहों पर सुधार किए जाने की जरुरत है।

National Hindi News, 24 May 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम बड़ी अपडेट्स के लिए क्लिक करें

एक यात्री का खो गया था सामानः हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका के एक डॉक्टर ने 5 मार्च को दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायतकर्ता ने दावा किया था कि डॉक्टर ने एयरपोर्ट पर अपना लैपटॉप बैग खो दिया था जिसमें लगभग 5,000 डॉलर रुपए, एक लैपटॉप और उससे जुड़ा जरूरी सामान था। यही नहीं पीड़ित के बैग में उसका पासपोर्ट और उनका रिसर्च पेपर था।

बैग का पता लगाने में कामयाब रही पुलिसः गहन जांच के बाद दिल्ली पुलिस अमेरीकी नागरिक के लैपटॉप बैग का पता लगाने और चोर को पकड़ने में कामयाब रही। एचटी की रिपोर्ट के मुताबिक प्रोफेसर दिल्ली पुलिस के काम से बेहद प्रभावित थे। उन्होंने डीसीपी को पत्र लिखकर धन्यवाद दिया।

क्राइम सीन रिक्रीएट कर बैग का लगाया पताः जिस जगह से बैग चोरी हुआ था वह सीसीटीवी कैमरों द्वारा कवर किया गया था। डीसीपी संजय भाटिया ने एचटी को बताया कि उन्होंने अपराध स्थल को फिर से  फिल्माया और निरीक्षण करते समय उन्होंने वहां कई कैमरे नोटिस किए, लेकिन उनके पास अलग-अलग नियंत्रण प्राधिकरण थे।

किसी संदिग्ध ने उठा लिया था बैगः विस्तृत जांच से पता चला कि बैग चुराने के 15 मिनट के अंदर जिसे प्रोफेसर भूल गए थे, किसी ने उठाया लिया था। हालांकि 500 अलग-अलग कैमरों की फुटेज को स्कैन  करने के बाद उन्होंने चार वाहनों को फाइनल किया।

 

 

गहन जांच के बाद पकड़ा गया आरोपीः डीसीपी ने बताया कि गहन जांच के बाद बैग चोरी करने वाले को पकड़ लिया गया। उन्होंने बताया कि इस केस के जरिए उन्हें हवाई अड्डे के डार्क स्पॉट्स के बारे में पता  चला। इस बारे में दिल्ली पुलिस ने दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड(डीआईएएल) को पत्र लिखकर जानकारी दी। साथ ही पार्किंग एरिया में सीसीटीवी कैमरों की संख्या बढ़ाने की मांग की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X