लखीमपुर के लिए पैदल जाते RLD के जयंत चौधरी ने VIDEO पोस्ट कर कहा- मैं अभी भी रास्ते में हूं, कुमार विश्वास ने अपने अंदाज में कसा तंज

लखीमपुर खीरी में मारे गए किसानों के परिवारों और प्रदर्शनकारियों से मिलने के लिए आरएलडी नेता जयंत चौधरी पैदल ही निकल गए हैं। उन्होंने खुद इसकी जानकारी ट्वीट कर दी है। जिसके बाद कुमार विश्वास ने उनपर तंज कसा है।

Kumar Vishwas, jayant chaudhary, lakhimpur kheri
कुमार विश्वास ने जयंत चौधरी पर कसा तंज (फाइल फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

लखीमपुर खीरी हिंसा पर विपक्ष, सरकार पर भारी पड़ता दिख रहा है। सरकार एक ओर जहां विपक्ष के नेताओं को लखीमपुर जाने से रोकने में जुटी है, वहीं विपक्षी नेता लगातार लखीमपुर जाने की कोशिश करते दिख रहे हैं।

सोमवार सुबह प्रियंका गांधी को हिरासत में लेने के बाद अखिलेश यादव को भी हिरासत में ले लिया था। इसके बाद अब राष्ट्रीय लोकदल के नेता जयंत चौधरी पैदल ही लखीमपुर के लिए निकल गए हैं। इसकी जानकारी उन्होंने खुद ट्वीट करके दी है। उनके इस ट्ववीट पर कवि कुमार विश्वास ने अपने खास अंदाज में मजकिया ट्वीट किया है।

जयंत चौधरी ने टीम आरएलडी का एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा है कि वो अभी रास्ते में हैं। वीडियो में जयंत अकेले सड़क पर जाते हुए दिख रहे हैं। उन्होंने मुंह पर गमछा भी बांध रखा है ताकि पहचान में ना आ सकें। इसी को लेकर कुमार विश्वास ने पश्चिमी यूपी की भाषा में ट्वीट कर तंज कसा है। कुमार विश्वास ने लिखा है- “मका यो ठीक सै…म्हारा चौस्साब का लौंडा पाम-पाम हो लिआ”।

उधर भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने कहा है कि किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए भाजपा के कार्यकर्ताओं उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में ना जाएं। सिसौली में बीकेयू मुख्यालय पर एक किसान पंचायत को संबोधित करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा हिंसा भड़का कर किसानों के आंदोलन को बदनाम करने की कोशिश कर रही है।

बता दें कि प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की लखीमपुर यात्रा से पहले हुई इस घटना में आठ लोगों की मौत हो गई है। मृतकों में किसान और भाजपा के कार्यकर्ता, दोनों शामिल हैं। किसान नेताओं ने दावा किया है कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा उन कारों में से एक में सवार थे, जिसने प्रदर्शनकारियों किसानों को कुचल दिया।

हालांकि, मंत्री अजय मिश्रा का कहना है कि वह और उनके बेटे घटनास्थल पर मौजूद नहीं थे और उनके पास इसे साबित करने के लिए तस्वीरें और वीडियो सबूत के तौर पर मौजूद है। इसी बीच बीकेयू कार्यकर्ताओं ने रविवार रात लखीमपुर खीरी घटना के खिलाफ धरना दिया और शामली जिले में एक सड़क जाम कर दी। प्रदर्शनकारियों ने आशीष मिश्रा के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए शामली के जिला अधिकारी को ज्ञापन भी सौंपा।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।