ताज़ा खबर
 

बिहार: बालिका गृह में यौन शोषण की सीबीआई जांच की मांग पर अड़ी आरजेडी

राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने मुजफ्फरपुर में सरकार द्वार वित्त पोषित बालिका आश्रय गृह की लड़कियों के यौन शोषण के आरोपों की सीबीआई जांच कराने की बात आज फिर से दोहराई और मांग की कि यह जांच उच्च न्यायालय की निगरानी में की जाए।

Author पटना | July 25, 2018 9:24 AM
राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने मुजफ्फरपुर में सरकार द्वार वित्त पोषित बालिका आश्रय गृह की लड़कियों के यौन शोषण के आरोपों की सीबीआई जांच की मांग की। (फोटो-पीटीआई)

राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने मुजफ्फरपुर में सरकार द्वार वित्त पोषित बालिका आश्रय गृह की लड़कियों के यौन शोषण के आरोपों की सीबीआई जांच कराने की बात आज फिर से दोहराई और मांग की कि यह जांच उच्च न्यायालय की निगरानी में की जाए। उन्होंने संवाददाताओं को बताया , ‘‘ हम इस मामले में सीबीआई जांच कराने की अपनी मांग को लेकर अड़े हुए हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए हम चाहेंगे कि यह जांच उच्च न्यायालय की निगरानी में हो। ’’ गौरतलब है कि बिहार के मुजफ्फरपुर में एक बालिका आश्रय गृह में पूर्व में रह चुकी एक लड़की ने कल आरोप लगाया था कि उसकी एक साथी की पीट – पीटकर हत्या कर दी गयी और उसे परिसर में दफन कर दिया गया एवं कई के साथ बलात्कार किया गया। इन आरोपों के बाद बिहार पुलिस ने जांच शुरु की है और शव को ढूंढ़ने के लिए उन्होंने बालिका आश्रय गृह के परिसर की खुदाई भी की।

मुजफ्फरपुर की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरप्रीत कौर ने कल कहा , ‘‘ आरोप लगाने वाली एक लड़की ने जिस जगह की पहचान की है , वहां से अभी तक कुछ भी बरामद नहीं हुआ है , जहां पर उस लड़की के आरोप के मुताबिक एक लड़की की पीट – पीट कर हत्या कर उसके शव को दफना दिया गया था। ’’ उन्होंने कहा , ‘‘ खुदाई बंद कर दी गई है , गड्ढे को भर दिया गया है और वहां से मिले मलबे के नमूने को फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया जाएगा। ’’ मुम्बई के एक संस्थान के सामाजिक आॅडिट में बिहार के इस बालिका आश्रय गृह की लड़कियों का यौन शोषण का मामला सामने आया था, जिसके बाद राज्य के समाज कल्याण विभाग ने पिछले महीने प्राथमिकी दर्ज की थी और इस सिलसिले में दस लोग गिरफ्तार किये जा चुके हैं ।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस बालिका आश्रय गृह को चलाने वाले एनजीओ को काली सूची में डाल दिया गया है। इस बालिका आश्रय गृह को सील कर दिया गया है और वहां की लड़कियों को अन्य जिलों के बालिका आश्रय गृहों में भेज दिया गया है। विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने कल आरोप लगाया था कि इस कांड में ऊंची पहुंच वाले कई लोग शामिल हैं, जिन्हें नीतीश कुमार सरकार बचाने का प्रयास कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App