ताज़ा खबर
 

जयंती पर रामविलास पासवान को PM-लालू ने किया याद, अपनों से दगा पाए चिराग बोले- शेर का बेटा हूं, न मानूंगा हार

दिल्ली में चिराग ने अपने इस शक्ति प्रदर्शन से पहले मां और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ पिता से जुड़ी "पासवान" नाम किताब भी जारी की।

Edited By अभिषेक गुप्ता नई दिल्ली/पटना | Updated: July 5, 2021 1:37 PM
लोजपा संस्थापक रामविलास पासवान की जयंती पर उन्हें याद करते हुए लालू प्रसाद यादव और चिराग पासवान व अन्य। (फोटोः टि्वटर- @ANI/@iChiragPaswan)

लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के संस्थापक रामविलास पासवान की जयंती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय जनता दल (RJD) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने उन्हें याद किया। पीएम ने कहा कि उन्हें दिवंगत पासवान की बड़ी कमी खलती है, तो राजद नेता ने भी उन्हें साथी करार दिया। कहा कि हमने साथ में काफी संघर्ष किया था।

रोचक बात है कि मोदी-और लालू की ये टिप्पणियां ऐसे वक्त पर आईं, जब पासवान के बेटे चिराग अपने चाचा पशुपति कुमार पारस से जारी विरासती जंग लड़ रहे हैं। सोमवार को उन्होंने पिता की जयंती पर हाजीपुर लोकसभा क्षेत्र (जिसका रामविलास ने कई दशकों तक प्रतिनिधित्व किया) से ‘आशीर्वाद यात्रा’ की शुरुआत की। दिल्ली में चिराग ने अपने इस शक्ति प्रदर्शन से पहले मां और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ पिता से जुड़ी “पासवान” नाम किताब भी जारी की। उन्होंने कहा, “मैं हाजीपुर से इस यात्रा की शुरुआत इसलिए कर रहा हूं, क्योंकि मेरे पिता का कर्मभूमि थी। हम हर जिले में यह यात्रा करेंगे। हमारा मकसद सिर्फ सभी लोगों का आशीर्वाद हासिल करना है। मेरे पास कोई स्टेटस नहीं है, जो मैं किसी को अपनी ताकत दिखाऊं। मेरे अपनों ने ही मुझे धोखा दिया।”

इसी बीच, राजद के स्थापना दिवस (25 साल पूरे हुए हैं) पर लालू ने दिल्ली से वर्चुअल तरीके से कार्यक्रम का किया उद्घाटन किया। उनके साथ पत्नी राबड़ी देवी और बेटी मीसा भारती भी इस दौरान थीं, जबकि बिहार की राजधानी पटना में आयोजित कार्यक्रम में तेजस्वी और तेजप्रताप यादव भी पहुंचे। पासवान की जयंती के मद्देनजर तेजस्वी ने कार्यालय में उनके चित्र पर माल्यापर्ण भी किया।

बता दें कि चिराग के इस फैसले से हाजीपुर का मौजूदा समय में प्रतिनिधित्व करने वाले चाचा पारस को नाराज किया है, जो लोजपा के अन्य सभी सांसदों के समर्थन से चिराग को हटाकर खुद लोकसभा में पार्टी के नेता के तौर पर आसीन होने के बाद अपने गुट द्वारा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोनीत किए गए हैं। उन्होंने हाल में चिराग के कार्यक्रम को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की थी। साथ ही सवाल दागा था कि क्या उनके पिता की जयंती श्रद्धांजलि देने या लोगों का आशीर्वाद लेने का अवसर है?

Next Stories
1 सीएम करते रहे इंतजार, पर न मिली कैंची तो हाथ से तोड़ा फीता, लोग बोले- मोदी जी से सीखें, वो हमेशा साथ ले चलते हैं
2 BJP ज्वॉइन करने की अपील करने वाली किताब के विमोचन में चले गए कांग्रेसी CM अशोक गहलोत
3 चिराग को लोजपा दफ़्तर के सामने से गुजरने तक की इजाज़त नहीं, तेजस्वी ने दिया खुला ऑफ़र; रामविलास जयंती पर ताक़त दिखाएँगे चाचा-भतीजा
ये पढ़ा क्या ?
X