ताज़ा खबर
 

ये हैं राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित युवती से रेप के आरोपी, पुलिस ने जारी किया फोटो

हरियाणा में राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित एक लड़की को अगवा कर सामूहिक बलात्कार करने के मामले में फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने तीनों की तस्वीर जारी की है।

रेवाड़ी पुलिस ने गैंगरेप के तीन आरोपियों के तस्वीर जारी किए (Photo: ANI)

राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित और बेसबॉल की होनहार खिलाड़ी को अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म के मामले में अभी भी पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर पायी है। फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने तीनों की तस्वीर जारी की है। जिन तीन आरोपियों की तस्वीर जारी की गई है उनमें मनीष, निशु, और आर्मी जवान पंकज शामिल है। बता दें कि हरियाणा के महेंद्रगढ़ में एक बस अड्डे से लड़की को अगवा कर उसके साथ कथित तौर पर 12 लोगों द्वारा दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। इस घटना को अंजाम देने के बाद आरोपियों ने ही लड़की के पिता को फोन की इसकी सूचना दी थी।

HOT DEALS
  • Honor 7X 64 GB Blue
    ₹ 16010 MRP ₹ 16999 -6%
    ₹0 Cashback
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 16999 MRP ₹ 17999 -6%
    ₹2000 Cashback

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पुलिस जिन तीन आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास कर रही है, वे सुबह से ही लड़की को करने के लिए उसके पीछे पड़े थे। बस अड्डे पर मिलने के बाद उसे पानी में मिलाकर नशीला पदार्थ पिला दिया और अगवा कर एक घर में ले गए। यहां उसके साथ आठ घंटे तक दुष्कर्म किया गया। इसके बाद उसे वापस बस स्टैंड पर छोड़ आए। पीडि़ता को रेवाड़ी स्थित एक अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

इस वीभत्स घटना के बाद एसपी भसीन ने पीडि़ता से मुलाकात की। भसीन ने बताया कि, “पीड़िता की हालत स्थिर है। मुख्य आरोपी की पहचान कर ली गई है। केस की हर पहलू से बारीकी से जांच की जा रही है। सरकार ने एसआईटी का गठन किया है। आरोपियों का सुराग देने वाले को एक लाख रुपए का इनाम देने की घोषणा की गई है।” वहीं, मामले को गंभीरता से लेते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी लिखित में हरियाणा के डीजीपी को पत्र लिखकर केस की प्रगति के बारे में जानकारी मांगी है।

वहीं, पीड़िता की मां ने कथित तौर पर कोई कार्रवाई न होने पर पुलिस पर हमला बोलते हुए कहा कि उनकी बेटी घटना के चलते सदमे में है और आरोपी घटना के बाद ‘‘खुलेआम घूम रहे हैं।’’ लड़की के पिता ने शुक्रवार को रेवाड़ी में कहा, ‘‘उसने (पीड़िता) तीन लोगों का नाम लिया है, लेकिन जिस समय भयावह घटना हुई, उसे ऐसा लगा कि वहां दस-बारह लोग रहे होंगे।’’ घटना पर विपक्ष की तीखी प्रतिक्रिया के बीच पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने आरोप लगाया कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह चरमरा गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App