ज़मानत मिलते ही फिर गिरफ्तार हो गया दीप सिद्धू, दूसरे मामले में दिल्ली पुलिस ने धरा

गणतंत्र दिवस के दिन लालकिला परिसर में हुई हिंसा मामले में आरोपी दीप सिद्धू को ज़मानत तो मिल गई लेकिन दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने उसे फिर से गिरफ्तार कर लिया।

deep sidhu, farmers protestमिली ज़मानत, फिर गिरफ्तार हुआ दीप सिद्धू। फोटो- एक्सप्रेस, ताशी तोबग्याल

गणतंत्र दिवस के दिन लालकिला परिसर में हुई हिंसा मामले में आज दिल्ली की एक कोर्ट ने आरोपी दीप सिद्धू को ज़मानत तो दे दी लेकिन इसके थोड़ी ही देर बाद उसे फिर से गिरफ्तार कर लिया गया। इस बार दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने उसे पुरातत्व विभाग की एफआईआर के आधार पर गिरफ्तार कर लिया। सिद्धू को 26 जनवरी के दिन लालकिला परिसर में हुई घटना के संबंध में नौ फरवरी को गिरफ्तार किया गया था।

विशेष न्यायाधीश नीलोफर आबिदा परवीन ने 30,000 रुपये के निजी मुचलके और इतनी ही राशि के दो जमानतदार पेश करने पर आरोपी की जमानत शुक्रवार को मंजूर की थी। अदालत ने इस बात पर गौर किया कि आरोपी नौ फरवरी, 2021 से हिरासत में है और वह इस दौरान 14 दिन पुलिस की हिरासत में रहा। कोर्ट ने कहा कि केवल आवाज का नमूना लेने के मकसद से और अवधि के लिए हिरासत में रखने की पुलिस की याचिका उचित नहीं है।

जज ने कहा, ‘अभियोजन का मामला मुख्य रूप से उन वीडियो रिकॉर्डिंग की सामग्रियों और फुटेज पर आधारित है, जो सोशल मीडिया पर सार्वजनिक रूप से सभी के लिए उपलब्ध हैं और ऐसे में इस बात की संभावना बहुत कम है कि आरोपी-प्रार्थी इस प्रकार के मंच पर उपलब्ध सामग्री से छेड़छाड़ करने में सक्षम है।’’

अदालत ने अभियोजन के इस तर्क को खारिज किया कि आरोपी जमानत पर रिहा किए जाने के बाद फरार हो सकता है। इसने कहा कि अभियोजन के मामले के अनुसार आरोपी एक जाना-माना व्यक्ति है, ऐसे में कड़ी शर्तें लगाकर इस आशंका को दूर किया जा सकता है। न्यायाधीश ने जमानत मंजूर करते हुए आरोपी को निर्देश दिया कि वह जांच अधिकारी के पास अपना पासपोर्ट जमा कराए और जब कभी आवश्यकता पड़े, पुलिस थाने एवं अदालत में पेश हो। हलांकि जमानत के बाद उसे फिर से गिरफ्तार कर लिया गया।

बता दें कि 26 जनवरी को हुई हिंसा में लगभग 500 पुलिसकर्मी घायल हुए थे और एक किसान की भी मौत हो गई थी। इस मामले में 152 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। 37 किसान नेताओं के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है। इस मामले में अभिनेता सिद्धू और गैंगस्टर से सामाजिक कार्यकर्ता बने लक्खा सिधाना को मुख्य आरोपी बनाया गया था।

Next Stories
1 मोदी की रैलियों का सवाल? बंगाल में तीन चरणों के मतदान एक दिन में नहीं चाहती थी भाजपा, TMC की मांग का EC के सामने किया विरोध
2 7th Pay Commission: हुआ फायदा! इस क्षेत्र में तैनात अफसरों के लिए केंद्र ने बढ़ाया ‘विशेष भत्ता’
3 आरक्षण को लेकर बाबा साहब आंबेडकर की तस्वीर फाड़ लगा दी आग, बोले लोग- करो गिरफ्तार
यह पढ़ा क्या?
X