ताज़ा खबर
 

Delhi: मेटल स्क्रैप से बने दुनिया के 7 अजूबे, 4.7 करोड़ रुपए हुए खर्च, जानें क्या होगा खास

सात अजूबे देखने के लिए अब आपको रोम, इजिप्ट, पेरिस सहित पूरी दुनिया की सैर करने की जरूरत नहीं है।

दिल्ली में बने 7 अजूबे,फोटो सोर्स- ANI

सात अजूबे देखने के लिए अब आपको रोम, इजिप्ट, पेरिस सहित पूरी दुनिया की सैर करने की जरूरत नहीं है। बता दें कि दिल्ली में ही सात अजूबे अब देखने को मिल जाएगा। दरअसल दक्षिण दिल्ली नगर नगिम द्वारा हजरत निजामुद्दीन रेलेव स्टेशन के पास एक पार्क तैयार किया जा रहा है। इस पार्क की खासियत ये है कि ये सारे अजूबे मेटल स्क्रैप से बने हैं। हालांकि ये पार्क अभी जनता के लिए नहीं खोला गया है।

क्राइस्ट दी रिडीमर और स्टेचू ऑफ लिबर्टी, फोटो सोर्स- ANI

4.7 करोड़ रुपए हुए खर्च: दरअसल सराय काले खां के पास बने राजीव गांधी स्मृति वन में मेटल स्क्रैप से 7 वंडर पार्क डेवलप किया जा रहा है, जिसमें दुनिा के सात अजूबे देखने को मिलेंगे। जानकारी के मुताबिक इसे तैयार करने में साउथ एमसीडी ने करीब 4.7 करोड़ रुपए खर्च किए हैं। बता दें कि ये पार्क अभी तक जनता के लिए नहीं खोला गया है। ऐसे में 7 अजूबे देखने के लिए जनता को थोड़ा सा इंतजार करना पड़ेगा।

 

एफिल टावर और ताजमहल ,फोटो सोर्स- ANI

60 फीट का एफिल टावर: बता दें कि इस पार्क के एफिल टावर की ऊंचाई 60 फीट है, तो वहीं पीसा मीनार की 25 फीट, पिरामिड 18 फीट ऊंचा है तो कोलोसियम 15 फीट में बनाया गया है। इसके साथ ही स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी 30 फीट का ऊंचा बना है और ताजमहल की ऊंचाई 30 फीट है। गौरतलब है कि यहां बनाए गए सभी अजूबों में सबसे ऊंचा एफिल टावर है।

 

ग़िज़ा का पिरामिड और लीनिंग टावर ऑफ पिसा ,फोटो सोर्स- ANI कोलोसम ,फोटो सोर्स- ANI

 

क्या हैं दुनिया के 7 अजूबे: बता दें कि दुनिया के 7 अजूबों में ताज महल (भारत), ग़िज़ा का पिरामिड (मिस्र), लीनिंग टावर ऑफ पिसा (इटली), एफिल टावर (पेरिस, फ्रांस), कोलोसम (रोम), क्राइस्ट दी रिडिमा (रियो, ब्राज़ील) और स्टेचू ऑफ लिबर्टी (न्यूयार्क) शामिल हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App