ताज़ा खबर
 

सबरीमाला मंदिर में प्रवेश की कोशिश करने वाली रेहाना फातिमा पर एक और केस, सशक्तीकरण का संदेश देने बच्चों से करा रही थीं बॉडी पर पेंटिंग

रेहाना फातिमा पर केरल पुलिस ने IT एक्ट, जुवेनाइनल एक्ट और अन्य धाराओं में केस दर्ज किया है।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र तिरुवनंतपुरम | June 24, 2020 1:41 PM
Rehana Fathima, Sabarimala Mandir, BSNLरेहाना फातिमा ने दो साल पहले सबरीमाला मंदिर में भी घुसने की कोशिश की थी, हालांकि वे इसमें सफल नहीं हो पाईं। (एक्सप्रेस फोटो)

केरल की तिरुवल्ला पुलिस ने पथनमथिट्टा जिले की रहने वाली महिला एक्टिविस्ट रेहाना फातिमा को गिरफ्तार किया है। बताया गया है कि फातिमा ने महिला सशक्तीकरण दिखाने के लिए अपने बच्चों से अपनी हाफ न्यूड बॉडी पर पेंटिंग करवाई थी। उन पर फिलहाल केरल पुलिस एक्ट, जुवेनाइल जस्टिस एक्ट और इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है।

रेहाना ने 19 जून को ही यूट्यूब वीडियो फेसबुक पर शेयर किया था। इसमें उनके बेटे और बेटी को उनकी सेमी न्यूड बॉडी पर पेंटिंग करते देखा जा सकता है। इस वीडियो के साथ उन्होंने हैशटैग #BodyArtPolitics पोस्ट किया था। रेहाना के मुताबिक, यह वीडियो उन्होंने इसलिए बनाया था, ताकि महिलाएं अपने सेक्स और शरीर को लेकर ज्यादा खुल सकें, वो भी ऐसे समाज में जहां यह दोनों चीजें प्रतिबंधित हैं।

उनके इस पोस्ट पर सोशल मीडिया पर लोगों ने नाराजगी जताई थी। कई लोगों ने इसे बच्चों के उत्पीड़न का मामला बताया। कुछ लोगों ने पूछा कि क्या अगर एक पिता अपनी बेटी के साथ ऐसा ही करेगा, तो ठीक होगा। रेहाना के खिलाफ कई लोगों ने शिकायत की है। हालांकि, पुलिस ने उन पर पॉक्सो एक्ट नहीं लगाया है।

तिरुवल्ला पुलिस का कहना है कि रेहाना के खिलाफ केस भाजपा नेता एवी अरुण प्रकाश की शिकायत पर दर्ज कियाय गया है। उन पर आईटी एक्ट की धारा 67, जुवेनाइल जस्टिस एक्ट की धारा 75 और केरल पुलिस एक्ट की धारा 120 के तहत मामला दर्ज हआ है।

कौन हैं रेहाना फातिमा?
दो साल पहले जब सुप्रीम कोर्ट ने बिना किसी उम्र के भेदभाव के सभी महिलाओं को अयप्पा मंदिर में प्रवेश देने की इजाजत दे दी थी। तब केरल की रहने वाली रेहाना फातिमा ने मंदिर में प्रवेश करने की कोशिश की थी। हालांकि, उनके इस कदम की काफी आलोचना हुई थी। पूर्व में बीएसएनएल की नौकरी कर चुकीं फातिमा को बाद में जबरन रिटायर कर दिया गया। उन्हें अपने फेसबुक पोस्ट के जरिए अयप्पा श्रद्धालुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए 18 दिन जेल में भी बिताने पड़े थे।

Next Stories
1 Coronavirus in India HIGHLIGHTS: अब गुजरात में निजी लैब में 2500 रुपये में कोरोना जांच, छत्तीसगढ़ में यात्री बसों के संचालन की अनुमति, शॉपिंग माल भी खुलेंगे
2 दिल्ली दंगा: गवाह का बयान- कपिल मिश्रा के लोगों ने जला दिया पंडाल, मैंने लोगों को कहते सुना था
3 Covid19: तृणमूल कांग्रेस के विधायक तमोनाश घोष की मौत, पाए गए थे कोरोना पॉजिटिव
ये पढ़ा क्या?
X