मथुरा के मंदिर में रावण का स्तुतिगान

’ रावण की अच्छाइयां गिनाते हुए सारस्वत ने कहा कि उसने अपने भाइयों और बेटे के मारे जाने के बाद भी सीता के साथ किसी तरह का दुर्व्यहार नहीं किया।

Author मथुरा | October 11, 2016 11:07 PM
Ravana, Ravana baba, Ravana Baba Worship, Ravana Baba puja, Ravana Baba place, Ravana Baba news, Ravana Baba in india, Ravana Baba in navratri, religion newsरावण। (प्रतीकात्मक फोटो)

देशभर में आज दशहरे के मौके पर जहां रावण के पुतलों का दहन किया गया वहीं यहां यमुना पर नये पुल के पास शिव मंदिर परिसर में एक घंटे तक लंका के राजा का स्तुतिगान किया गया। ‘लंकेश भक्त मंडल’ के सदस्यों ने न केवल रावण के प्रति सम्मान प्रकट किया बल्कि यह निर्णय भी लिया कि वे लोगों से हर साल भगवान शिव के इस परम भक्त के पुतले नहीं जलाने का आग्रह करेंगे।

लंकेश भक्त मंडल के अध्यक्ष और वकील ओमवीर सारस्वत ने कहा, ‘‘मंडल अब न केवल हर साल रावण के पुतले के दहन की बुराई के खिलाफ मथुरा के लोगों को जागरच्च्क करने का प्रयास करेगा बल्कि पड़ोसी जिलों में भी यह संदेश प्रसारित करेगा।’’ रावण की अच्छाइयां गिनाते हुए सारस्वत ने कहा कि उसने अपने भाइयों और बेटे के मारे जाने के बाद भी सीता के साथ किसी तरह का दुर्व्यहार नहीं किया। उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने सेतुबंध रामेश्वरम के निर्माण के दौरान एक पुजारी की भूमिका निभाई जबकि इसका इस्तेमाल राम ने ही लंका पर हमले के लिए किया।’’ सारस्वत ने कहा, ‘‘यह न केवल अपमानजनक है बल्कि हर साल ऐसे आदर्श व्यक्तित्व का पुतला जलाना इस देश की संस्कृति के खिलाफ है।’’

Next Stories
1 जयललिता को देखने अपोलो हास्पिटल पहुंचे जम्मू कश्मीर के मंत्री
2 केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने बताया कि किस वजह से शिक्षा के क्षेत्र में पिछड़ गया भारत
3 साल में एक बार खुलते हैं इस मंदिर के द्वार, रावण की हो रही पूजा, भक्त मांग रहे दशानन से मन्नतें
आज का राशिफल
X