ताज़ा खबर
 

तलाक लेने की जिद पर अड़े हैं तेज प्रताप, लालू की तबियत पर पड़ रहा है असर

रिम्स में भर्ती राजद सुप्रीमो लाल प्रसाद यादव धीरे धीरे डिप्रेसन के शिकार हो रहे है। गौरतलब है कि तेजप्रताप यादव ने परिवार वालों के समझने के बाद भी अपनी पत्नी ऐश्वर्या से तलाक लेने की जिद नहीं छोड़ी है।

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव (Express Photo by Alok Jain)

लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव के बगावती तेवरों ने उनके स्वास्थ्य पर बुरा असर डालना शुरू कर दिया है। रिम्स में भर्ती राजद सुप्रीमो लाल प्रसाद यादव धीरे धीरे डिप्रेसन के शिकार हो रहे है। गौरतलब है कि तेजप्रताप यादव ने परिवार वालों के समझने के बाद भी अपनी पत्नी ऐश्वर्या से तलाक लेने की जिद नहीं छोड़ी है। जिसकी वजह से परिवार के अंदर हलचल मची हुई है। तेजप्रताप यादव अस्पताल में अपने पिता लालू यादव से मुलाकात कर चुके है लेकिन उनके समझाने के बाद भी तेजप्रताप ने तलाक की जिद नहीं छोड़ी है।

रिम्स में भर्ती लालूप्रसाद यादव का इलाज कर रहे डॉ. डीके झा ने बताया कि लालू यादव तनाव के चलते ठीक तरह से अपनी नींद भी पूरी नहीं कर पा रहे है। उनका कहना है कि अगर ऐसी स्तिथि लगातार कई दिनों तक बनी रहती है तो ये लालू यादव की सेहत पर बहुत ख़राब असर डालेगी। जाहिर है कि चारा घोटाले में सजा पाने के बाद से ही लालू यादव जेल से ज्यादा अस्पताल में पाए जाते है। लालू अपनी खराब सेहत का हवाला देकर अस्पताल में भर्ती हुए थे।

डॉक्टर्स ने बताया कि लालू यादव अपनी बातें किसी से शेयर नहीं कर पा रहे है। परेशनियाँ उनके चेहरे पर साफ़ नजर आ रही है। धीरे-धीरे करीब दर्जन भर बीमारियों ने लालू के अंदर घर कर लिया है। वो किसी भी तरह का सदमा बर्दाश्त करने की हालत में नहीं है।

गौरतलब है कि चारा घोटाले में सजा पाने के बाद से ही लालू बीमार पड़ गए थे। उसके बाद राज्य में पार्टी की खराब होती हालत, दोनों बेटो के बीच की तकरार और फिर अब तेजप्रताप के तलाक वाले मामले ने लालू यादव को और कमजोर कर दिया है। गौरतलब है कि तेजप्रताप परिवारवालों के समझाने के बाद भी अपनी जिद पर अड़े है, उन्होंने पत्नी से तलाक के लिए अर्जी दे रखी है। तेजप्रताप अपनी जिद से पीछे हटने को तैयार नहीं है। फिलहाल इन सब घटनाक्रम से लालू यादव की सेहत ख़राब होती जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App