ताज़ा खबर
 

‘जमानत की शर्त’ पर मुकरी रांची गर्ल, बोली- नहीं बांटूंगी कुरान, सुब्रमण्यन स्वामी समेत कई दिग्गजों ने किया समर्थन

रिचा ने कहा, 'मैंने कोई पोस्ट नहीं लिखी। मैंने सिर्फ कहीं से मिली हुई पोस्ट को कट और पेस्ट करके शेयर कर दिया। दूसरे समुदाय के लोग भी ऐसा लिखते हैं लेकिन उन्हें कभी हनुमान चालीसा बांटने के लिए नहीं कहा गया। यह सही नहीं है।'

Author रांची | July 17, 2019 8:05 AM
रिचा भारती (फोटो-एएनआई)

झारखंड की राजधानी रांची में मंगलवार (16 जुलाई) को स्थानीय अदालत ने एक छात्रा को जमानत की शर्त के रूप में कुरान बांटने का आदेश दिया था। कथित तौर पर धार्मिक भावनाएं आहत करने वाली एक फेसबुक पोस्ट करने के चलते उसे यह सजा सुनाई गई थी। हालांकि एएनआई के मुताबिक रिचा भारती नाम की इस छात्रा ने अदालत के आदेश पर असंतोष जाहिर किया। बता दें कि सिविल कोर्ट मजिस्ट्रेट मनीष सिंह ने रिचा को अंजुम इस्लामिया कमेटी और चार अन्य स्कूल-कॉलेज में कुरान की प्रतियां दान करने को कहा था।

एएनआई से बातचीत में रिचा ने कहा, ‘मैं अदालत का सम्मान करती हूं लेकिन मैं इस फैसले से संतुष्ट नहीं हूं। मुझे एक साधारण सी फेसबुक पोस्ट के चलते मस्जिद जाकर कुरान देनी पड़ेगी। मेरे भगवान के बारे में कुछ लिखने में कुछ भी गलत नहीं है।’ रिचा ने अपने ऊपर लग रहे धार्मिक भावनाएं आहत करने वाले आरोपों को खारिज कर दिया। उसने कहा, ‘मैंने कोई पोस्ट नहीं लिखी। मैंने सिर्फ कहीं से मिली हुई पोस्ट को कट और पेस्ट करके शेयर कर दिया। दूसरे समुदाय के लोग भी ऐसा लिखते हैं लेकिन उन्हें कभी हनुमान चालीसा बांटने के लिए नहीं कहा गया। यह सही नहीं है।’ बता दें कि रिचा को उनके खिलाफ 12 जुलाई को एक आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर दर्ज हुए मुकदमे के बाद गिरफ्तार कर लिया गया था।

रिचा के साथ हुआ यह वाकया सामने आने के बाद कई हिंदू वादी संगठन और दक्षिण पंथी नेता भी उसके समर्थन में उतर आए हैं। बीजेपी नेता सुब्रमण्यन स्वामी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से लिखा, ‘मैंने झारखंड सरकार में मंत्री और मेरे दोस्त सरयू राय से इस मामले को देखने के लिए कहा है। मैंने इस बहादुर लड़की को भी उनसे मिलने के लिए कहा है।’ वहीं कपिल मिश्रा ने लिखा, ‘संविधान का उल्लंघन किया है तो संविधान की कॉपी बांटने के लिए कहे। धर्मनिरपेक्ष देश का धर्मनिरपेक्ष न्यायालय किसी को कुरान की कॉपी बांटने का आदेश कैसे दे सकता है।’ बीजेपी नेता तेजिंदर पाल बग्गा भी रिचा के समर्थन में उतरे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App