ताज़ा खबर
 

नीतीश पर टिप्पणी करने वाले अन्य नेताओं के खिलाफ भी कार्रवाई करें लालू : पासवान

लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के प्रमुख और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का कहना है कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ टिप्पणी करने वाले अपने नेता तस्लीमुद्दीन ही नहीं बल्कि दो अन्य नेताओं रघुवंश प्रसाद सिंह और प्रभुनाथ सिंह के खिलाफ भी कार्रवाई करनी चाहिए।

Author पटना | May 25, 2016 5:15 AM
केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (पीटीआई फाइल फोटो)

लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के प्रमुख और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का कहना है कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ टिप्पणी करने वाले अपने नेता तस्लीमुद्दीन ही नहीं बल्कि दो अन्य नेताओं रघुवंश प्रसाद सिंह और प्रभुनाथ सिंह के खिलाफ भी कार्रवाई करनी चाहिए। पासवान ने ये बातें असम के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री सर्बानंदा सोनोवाल के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पटना हवाई अड्डे से रवाना होने से पहले कहीं।

उल्लेखनीय है कि राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह, अररिया से पार्टी के सांसद तस्लीमुद्दीन और राजद के वरिष्ठ नेता व पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह की ओर से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ टिप्पणी किए जाने पर जद(एकी) के प्रदेश मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने राजद सुप्रीमो से उनके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की थी। बिहार की महागठबंधन सरकार में शामिल राजद ने बीते 22 मई को अपने सहयोगी दल जद(एकी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ की गई टिप्पणी को पार्टी और महागठबंधन की नीति व सिद्धांत के खिलाफ बताते हुए तस्लीमुद्दीन को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए उनसे सात दिनों के भीतर जवाब देने को कहा था।

लोजपा सुप्रीमो और केंद्रीय खाद्य व जनवितरण मंत्री रामविलास पासवान ने खुद को अल्पसंख्यकों का हितैषी बताने वाले लालू प्रसाद पर आरोप लगाया कि उन्होंने इस समुदाय से आने वाले अपनी पार्टी के नेता तस्लीमुद्दीन को केवल नोटिस थमाकर खानापूर्ति करने का काम किया है। अगर उनमें हिम्मत है तो नीतीश के खिलाफ टिप्पणी करने वाले अपने दो अन्य नेताओं रघुवंश और प्रभुनाथ को भी नोटिस थमाएं और उनके खिलाफ भी कार्रवाई करें। बिहार की महागठबंधन सरकार में शामिल राजद के इन नेताओं की नीतीश के खिलाफ की गई टिप्पणी पर लालू ने सोमवार को अपनी चुप्पी तोड़ते हुए महागठबंधन को चट्टान की तरह मजबूत बताया था और अपने दल के लोगों को सलाह दी थी कि वे बेवजह बयानबाजी से परहेज करें, कोई बात हो तो उनसे साझा करें। उन्होंने आरक्षण के मुद्दे को लेकर केंद्र पर निशाना साधने वाले लालू से पूछा कि बिहार की महागठबंधन सरकार ने एससी-एसटी कर्मियों को प्रोन्नति में आरक्षण के प्रावधान को खत्म करने का निर्णय कैसे ले लिया।

पासवान ने खाद्य सुरक्षा कानून के तहत बिहार सरकार पर अनाज का समय पर उठाव नहीं करने का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने मई में अब तक 70 फीसद अनाज का ही उठाव किया है। उन्होंने कहा कि बिहार सरकार की ओर से 30 फीसद अनाज का उठाव नहीं किए जाने से लाभार्थियों के बीच समय पर अनाज का वितरण नहीं किया जा सकेगा। रामविलास ने राज्य सरकार से कहा कि वह समय पर अनाज का उठाव करे, ताकि लाभार्थियों के बीच संबंधित महीने के पहले हफ्ते में अनाज का वितरण किया जा सके।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App