Ram Temple Issue: Art of Living Sri Sri Ravi Shankar has insulted the Supreme Court Government and Indians says Boll Javed Akhtar - राम मंदिर मामला: श्री श्री रविशंकर पर भड़के जावेद अख्‍तर, बोले- सुप्रीम कोर्ट, सरकार और भारतीयों का अपमान किया है - Jansatta
ताज़ा खबर
 

राम मंदिर मामला: श्री श्री रविशंकर पर भड़के जावेद अख्‍तर, बोले- सुप्रीम कोर्ट, सरकार और भारतीयों का अपमान किया है

बॉलीवुड गीतकार की यह प्रतिक्रिया श्रीश्री के उस बयान पर आई है, जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर अयोध्या में राम मंदिर बनाने में किसी प्रकार की भी देरी की गई तो देश में सीरिया सरीखी स्थिति पैदा हो सकती है। अयोध्या मुस्लिमों का धार्मिक स्थल नहीं है। मुस्लिमों को इस पर अपना दावा छोड़ कर नजीर पेश करनी चाहिए।

ऑर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री ने इससे पहले कहा था कि राम मंदिर न बना तो देश में सीरिया जैसी हालत हो सकती है। (फोटोः फेसबुक)

राम मंदिर मामले पर बॉलीवुड गीतकार जावेद अख्तर ने आध्यात्मिक गुरु और आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्रीश्री रविशंकर के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने भड़कते हुए अंदाज में कहा है कि श्रीश्री ने सुप्रीम कोर्ट, सरकार और भारत के नागरिकों का अपमान किया है। बॉलीवुड गीतकार की यह प्रतिक्रिया श्रीश्री के उस बयान पर आई है, जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर अयोध्या में राम मंदिर बनाने में किसी प्रकार की भी देरी की गई तो देश में सीरिया सरीखी स्थिति पैदा हो सकती है। अयोध्या मुस्लिमों का धार्मिक स्थल नहीं है। मुस्लिमों को इस पर अपना दावा छोड़ कर नजीर पेश करनी चाहिए। श्रीश्री ने यह बयान एक न्यूज चैनल पर डिबेट के दौरान दिया था, जिस पर उनकी सड़क से लेकर सोशल मीडिया तक जमकर आलोचना की जा रही है। हालांकि, उन्होंने इस विवादित बयान पर बाद में सफाई भी थी। श्रीश्री का
कहना था कि उनके बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया।

अख्तर ने इस बारे में सोशल मीडिया पर अपनी प्रतिक्रिया दी। ट्वीट में उन्होंने लिखा, “श्रीश्री रविशंकर ने यह दावा कर सुप्रीम कोर्ट का अपमान किया है कि उसके फैसले को भारतीय स्वीकार नहीं करेंगे। उन्होंने इसी के साथ यह कहकर भी वर्तमान सरकार का अपमान किया है कि वह अपनी निगरानी में किसी गृह युद्ध की प्रतीक्षा कर रही है। उन्होंने यह आरोप लगाते हुए हम भारतीयों का भी अपमान किया है कि हम भारत को सीरिया में तब्दील कर देंगे।”

गीतकार ने आगे कहा, “मैं सार्वजनिक तौर पर मुस्लिम प्रतिक्रियावादी लोगों का खुलकर विरोध करता रहा हूं। ऐसा शाह बानो केस के दिनों से है। फतवा जारी किए जाने और धमकियां मिलने के बाद भी मैं हर किस्म के कट्टरपंथियों का विरोध करता हूं। मुस्लिम और हिंदू, दोनों ही धर्मों के कट्टरपंथी कई बार मेरे पुतले तक जला चुके हैं।
यह मेरे लिए गर्व की बात है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App