ताज़ा खबर
 

मंदिर का जश्न: असम में बजरंग दल वालों ने मुस्लिमों को बनाया बंधक, पथराव, आगजनी; बंगाल में लॉकडाउन तोड़ सड़कों पर निकले भाजपाइयों की पुलिस से भिड़ंत

अयोध्या में राम मंदिर की आधारशिला रखे जाने की खुशी में बुधवार को पश्चिम बंगाल में पूर्ण लॉकडाउन के बीच राम भक्तों ने उत्सव मनाया। इसे लेकर लॉकडाउन का पालन कराने में जुटी पुलिस और उनके बीच राज्य में कई जगहों पर झड़पें हो गईं।

Author Translated By Ikram नई दिल्ली | Updated: August 6, 2020 7:51 AM
ram templeपुलिस ने बताया कि क्षेत्र में अब हालात सामान्य हैं और पर्याप्त सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

असम के सोनितपुर जिले में बुधवार (5 अगस्त, 2020) को उस वक्त तनाव पैदा हो गया जब स्थानीय मुस्लिम निवासियों संग बजरंग दल के सदस्यों ने कथित तौर पर हाथापाई की। पुलिस ने बताया अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन के शिलान्यास के दौरान बजरंग के सदस्य जुलूस निकाल रहे थे, उस वक्त ये घटना हुई। नाम ना जाहिर करते हुए जिले के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि विवाद तब शुरू हुआ जब बजरंग दल वालों ने एक स्थानीय मंदिर के पास बाइकों से जुलूस निकाला। इस दौरान दोनों पक्षों द्वारा पथराव किया गया और पांच मुस्लिमों को जबरन बंधक बनाकर एक कमरे में बंद कर दिया गया।

अधिकारियों के मुताबिक थेलमाड़ा पुलिस स्टेशन के अधिकार क्षेत्र में एक बाइक और टाटा मैजिक वाहन को आग के हवाले कर दिया गया। दोनों पक्षों के बीच हुई इस झड़प में कुछ लोगों को चोटें आई हैं। मामले में सोनितपुर के डीसी मनवेंद्र प्रताप सिंह ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि थेलमाड़ा पुलिस स्टेशन के अंतर्गत आने वाले कुछ क्षेत्रों को दो-तीन दिनों के लिए कर्फ्यू में रखा जाएगा। इसी बीच एडीजीपी (कानून व्यवस्था) जीपी सिंह द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि हालात अब काबू में और शांतिपूर्ण हैं। क्षेत्र में पर्याप्त सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है।

इधर अयोध्या में राम मंदिर की आधारशिला रखे जाने की खुशी में बुधवार को पश्चिम बंगाल में पूर्ण लॉकडाउन के बीच राम भक्तों ने उत्सव मनाया। इसे लेकर लॉकडाउन का पालन कराने में जुटी पुलिस और उनके बीच राज्य में कई जगहों पर झड़पें हो गईं। पुलिस के मुताबिक लॉकडाउन उल्लंघन के चलते राज्य के अलग-अलग हिस्सों से कुल 3,400 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें से 850 लोग शहर से ही गिरफ्तार किए गए।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पश्चिमी मिदनापुर जिले के खड़गपुर, उत्तरी 24 परगना के नारायणपुर और उत्तरी बंगाल के अलीपुरद्वार समेत कुछ जगहों से झड़प की सूचना मिली। उन्होंने बताया कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने खड़गपुर में जुलूस निकाला, जिसे पुलिस ने रोक दिया। इसके बाद झड़प हो गई। अधिकारी ने कहा, ‘मार्च को आगे बढ़ने से रोके जाने पर पुलिस और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई। भाजपा के कई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया।’ उन्होंने कहा कि घटना में कुछ पुलिसकर्मी घायल हो गए।

अलीपुरद्वार कस्बे में भाजपा कार्यकर्ताओं को पूर्ण लॉकडाउन के चलते भूमि पूजन पर उत्सव आयोजित करने से रोका गया, जिससे तनाव बढ़ गया। भाजपा कार्यकर्ता ने नारायणपुर इलाके में ‘यज्ञ’ आयोजित करने का प्रयास किया, लेकिन कुछ स्थानीय लोगों ने उन्हें रोक दिया। पुलिस ने कहा कि उसने भीड़ को तितर-बितर करने के लिये ‘बल’ प्रयोग किया। (एजेंसी इनपुट)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मुंबई में दो घंटे में 266 एमएम बारिश, रेल और सड़क यातायात बाधित; मौसम विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट
2 रिम्‍स डायरेक्‍टर का बंगला बना लालू यादव का ठिकाना, सोरेन सरकार पर बरसी भाजपा
3 राजस्थान सियासी संकटः SOG ने वापस लिया राजद्रोह का मुकदमा, अब ACB को मामले ट्रांसफर
ये पढ़ा क्या?
X