scorecardresearch

Ram Mandir निर्माण के लिए भट्टे वाला देगा 51 हजार ईंटें, सभी पर लिखा होगा ‘राम-राम’, यूं चल रही तैयारी

भट्ठा मालिक संदीप वर्मा ने बताया, “कुल 106 मजदूर पूरी मेहनत और समर्पण से ईंट निर्माण में लगे हैं। वे ईंटों की पवित्रता बनाए रखने के लिए जूते-चप्पल भी नहीं पहन रहे हैं।”

Ram Mandir निर्माण के लिए भट्टे वाला देगा 51 हजार ईंटें, सभी पर लिखा होगा ‘राम-राम’, यूं चल रही तैयारी
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए करेंगे ईंटों का दान, प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स – इंडियन एक्सप्रेस)

यूपी के रसूलाबाद के एक भट्ठे के मालिक ने भगवान राम के नाम पर खास तौर पर 51 हजार ईंटों काे तैयार करवाने का निर्णय लिया है। वह इसे अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए देगा। भट्ठा मालिका का कहना है कि हर ईंट पर भगवान राम का नाम लिखा रहेगा। भट्ठे के मैनेजर बाबूराम यादव ने रविवार को बताया, “हम 51 हजार ईंटों का एक बैच तैयार करवा रहे हैं, ये ईंट अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए दान की जाएंगी। ये दिसंबर के अंत या जनवरी की शुरुआत में तैयार हो जाएंगी।”

तीन किलो की होगी एक ईंट भट्ठा मालिक संदीप वर्मा ने राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के तुरंत बाद दान करने का निर्णय लिया। उन्होंने बताया, “कुल 106 मजदूर पूरी मेहनत और समर्पण से ईंट निर्माण में लगे हैं। वे ईंटों की पवित्रता बनाए रखने के लिए जूते-चप्पल भी नहीं पहन रहे हैं। इन ईंटों को खास तौर पर दोमट मिट्टी से बनवाया जा रहा है।” कहा कि ईंट बनने के बाद हर ईंट का वजन 3 किलो के आसपास होगा।

Hindi News Today, 25 November 2019 LIVE Updates: बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया था फैसला सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में 1992 में विध्वंस से पहले खड़े बाबरी मस्जिद पर विवादित भूमि को लेकर 70 साल से चल रहे कानूनी लड़ाई को 9 नवंबर को खत्म कर दिया था। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच जजों की बेंच ने रामलला के पक्ष में फैसला दिया। इसके तहत पूरी विवादित 2.7 एकड़ भूमि ट्रस्ट के पक्ष में सौंपने को कहा। इस ट्रस्ट को सरकार बनाएगी और यह भूमि पर राम मंदिर निर्माण की देखरेख करेगा।

मंदिर निर्माण का लिए बनेगा ट्रस्ट अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाने के लिए सरकार ने अपने प्रयास शुरू कर दिए हैं। इस बीच कुछ मुस्लिम संगठनों ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर असंतोष जताते हुए इसके खिलाफ अपील करने का निर्णय लिया है। उनका कहना है कि फैसले में बाबरी मस्जिद को दूसरी जगह जमीन देने की बात कही गई है। यह उन्हें स्वीकार नहीं है। वे उसी भूमि पर फिर से मस्जिद बनाना चाहते हैं।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट