ताज़ा खबर
 

मायावती के जेल भिजवाने वाले बयान पर बोले कठेरिया- भविष्य बताएगा कि कौन किसे जेल भिजवाएगा

केन्द्रीय मंत्री राम शंकर कठेरिया ने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश के हालात बड़े खराब हैं। हत्या, लूट, बलात्कार की घटनाएं हो रही हैं। उत्तर प्रदेश सरकार के सामने बडा प्रश्न है....प्रदेश की जनता अब परिवर्तन चाहती है।’’

Author लखनऊ | March 5, 2016 9:06 AM
भाजपा सांसद बाबू लाल ने फिर मुस्लिम समुदाय के खिलाफ भड़काऊ बयान दिया है (Express Photo by Ashutosh Bhardwaj)

कानून व्यवस्था को लेकर उत्तर प्रदेश की सपा सरकार और दलित वोटों को लेकर बसपा प्रमुख मायावती पर हमला बोलते हुए केन्द्रीय मंत्री राम शंकर कठेरिया ने शुक्रवार (4 मार्च) को कहा कि प्रदेश की जनता अब दोनों ही पार्टियों को समझ चुकी है और वह अब बदलाव चाहती है। कठेरिया ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश में मायावती जिस तरह दलितों की ठेकेदार बनी हैं विशेषकर दलितों के वोटों का जो सौदा करती हैं, उसे जनता समझ चुकी है और प्रदेश का दलित अब जागरूक हो गया है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश के हालात बड़े खराब हैं। हत्या, लूट, बलात्कार की घटनाएं हो रही हैं। उत्तर प्रदेश सरकार के सामने बडा प्रश्न है….प्रदेश की जनता अब परिवर्तन चाहती है।’’

कठेरिया ने हत्या के मामलों में पीडित परिवारों को मुआवजा देने में भेदभाव का आरोप सपा सरकार पर मढा। आगरा घटना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि आगरा में दिनदहाड़े दलित युवक अरुण महौर की हत्या कर दी गयी। इससे पहले विश्वविद्यालय के अधिकारी सतेन्द्र जाटव की हत्या की गयी। दोनों दलितों की हत्या पर मायावती चुप रही हैं। राज्यसभा में उन्होंने इन घटनाओं का जिक्र तक नहीं किया।

जब पूछा गया कि दलितों की सुरक्षा के लिए केन्द्र सरकार क्या कर रही है तो कठेरिया बोले, ‘‘हमने गृह मंत्रालय को इस संबंध में पत्र लिखा और गृह मंत्रालय संघीय ढांचे के अनुरूप कदम उठा रहा है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पत्र लिखा गया है।’’

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री ने मायावती के उस बयान का जिक्र किया जिसमें उन्होंने कथित रूप से कहा था कि यदि वह उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री होतीं तो कठेरिया को जेल भिजवा देतीं। कठेरिया ने कहा, ‘‘यह तो भविष्य बताएगा कि कौन किसे जेल भिजवाएगा।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App