ताज़ा खबर
 

राम मंदिरः जिन्हें मिला है न्यौता, सिर्फ वे ही अयोध्या आएं, बाकी घरों पर दीप जलाएं- बोले CM योगी

योगी आदित्यनाथ की तरफ से ट्वीट कर लोगों से अपील की गई है कि जिन्हें न्यौता मिला है सिर्फ वही लोग अयोध्या आए। बाकी सभी लोग घर पर बैठकर ही ऐतिहासिक दृश्य का नजारा लें।

activist convictedउत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ। (पीटीआई)

5 अगस्त को राम मंदिर के शिलान्यास समारोह की तैयारियां ज़ोरों पर हैं। इसका जायजा लेने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज अयोध्या गए हैं। इस दौरान योगी आदित्यनाथ की तरफ से ट्वीट कर लोगों से अपील की गई है कि जिन्हें न्यौता मिला है सिर्फ वही लोग अयोध्या आए। बाकी सभी लोग घर पर बैठकर ही ऐतिहासिक दृश्य का नजारा लें।

सीएम ने लिखा कि कई शताब्दियों की प्रतीक्षा अब पूर्ण हो रही है, व्रत फलित हो रहे हैं, संकल्प सिद्ध हो रहा है। सभी श्रद्धालुजन घर पर दीप जलाएं, धर्मगुरु मंदिरों को सजाएं, श्रीरामचरितमानस का पाठ करें और अपने पूर्वजों को याद करें जिन्होंने राम मंदिर के लिए खुद का बलिदान दिया है। प्रभु श्री राम का आशीष सभी जनों को प्राप्त होगा।

योगी आदित्यनाथ ने कहा “अयोध्या के साथ-साथ देश और दुनिया के लिए एक ऐतिहासिक क्षण होगा जब प्रधानमंत्री मोदी जी अयोध्या में लगभग 500 वर्षों की इस परीक्षा के परिणाम के साथ भगवान श्री राम के भव्य मंदिर के निर्माण की आधारशिला रखेंगे।” सीएम ने आगे कहा ” इसके महत्व को समझते हुए, यहां अयोध्या में कार्यों का अवलोकन करने के लिए मैं स्वयं आया हूं।”

यूपी के सीएम ने कहा “बाहर व्यवस्था आदि देखने, निरीक्षण करने के लिए हम यहां आए हैं, कहीं भी कोई कोताही न बरती जाए, हम लोगों ने इसके लिए पूरी तत्परता के साथ तैयारी की है। कोविड-19 के प्रोटोकॉल को मजबूती से लागू करने पर प्रशासन का मुख्य फोकस है।”

राम मंदिर पर दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर उत्तर प्रदेश सीएम ने कहा “इस ऐतिहासिक क्षण पर नकारात्मक टिप्पणी न करें, हर व्यक्ति के इतिहास के बारे में और कृत्यों के बारे में देश और दुनिया जानती है, किसी को कुछ बोलने की आवश्यकता नहीं है। राम मंदिर का निर्माण कार्य आजादी के तुरंत बाद सोमनाथ मंदिर के पुनरुद्धार के साथ शुरू हो सकता था। परन्तु जब लोगों के लिए देश से महत्वपूर्ण सत्ता हो जाती है तो वे जनभावनाओं के साथ खिलवाड़ करते हैं।”

वहीं राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट महासचिव चंपत राय ने कहा “हमने इस (राम जन्मभूमि शिलान्यास) आयोजन में भारत के लगभग 36 आध्यात्मिक परंपराओं के 135 संतों को निमंत्रण भेजा है। चंपत राय ने बताया कि हमने इकबाल अंसारी को भी बुलाया है और मोहम्मद शरीफ को भी। मोहम्मद शरीफ वो इंसान हैं जो लोगों का मुफ्त में अंतिम संस्कार करते हैं और अब तक करीब 10 हजार लोगों का अंतिम संस्कार कर चुके हैं। इसके लिए उन्हें राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित भी किया जा चुका है। वह अयोध्या के निवासी है और हमने उन्हें आमंत्रित किया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 गुजरातः अहमदाबाद में महिला ने पति को तीन बार कहा- तलाक, 3 बच्चों संग छोड़ा घर
2 सामने आया रामजन्म भूमि पूजन समारोह का कार्ड, पीएम मोदी के अलावा इन तीन लोगों के हैं नाम
3 JNU में कनकलता बरुआ जैसे आजादी के ‘गुमनाम हीरो’ का जश्न मनाएगी ABVP, स्वराज पखवाड़े का होगा आयोजन
ये पढ़ा क्या?
X