ताज़ा खबर
 

2019 लोकसभा चुनाव: बेगूसराय से कन्‍हैया कुमार के सामने बीजेपी के राकेश सिन्‍हा?

बिहार के बेगूसराय सीट से आगामी लोकसभा चुनाव में कन्हैया कुमार महागठबंधन के प्रत्याशी होंगे। वहीं, संघ विचारक राकेश सिन्हा कन्हैया कुमार को यहां से टक्कर दे सकते हैं।

कन्हैया कुमार के खिलाफ राकेश सिन्हा चुनाव लड़ सकते हैं। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

आगामी लोकसभा चुनाव में अब बस कुछ महीने शेष रह गए हैं। सभी दल प्रत्याशी चयन से लेकर जीत के लिए संभावित समीकरण तय करने में जुट गए हैं। इस बार बिहार के बेगूसराय सीट से मुकाबला रोचक होने की उम्मीद है। यहां से दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार महागठबंधन के उम्मीदवार होंगे। वे सीपीआई के निशान पर ही चुनाव लड़ेंगे। कन्हैया कुमार को टक्कर देने के लिए भाजपा राकेश सिन्हा को अपना उम्मीदवार बना सकती है। बता दें कि दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर, लेखक और टीवी चैनलों पर संघ तथा बीजेपी के पक्ष में आवाज मुख करने वाले राकेश सिन्हा को कुछ ही समय पहले राज्यसभा सांसद बनाया गया था।

लोकसभा चुनाव में बेगूसराय सीट को लेकर उन्होंने एक ट्वीट कर कहा कि, “कुछ वामपंथी मेरे भविष्य को लेकर ट्वीटर पर बहुत चिंतित हैं। वे बेगूसराय के लोकसभा चुनाव की भविष्यवाणी करते हुए मन भर गाली दे रहे हैं। इतना समय और ऊर्जा वे मार्क्स को भारतीय संदर्भ में समझने में लगाते तो शायद उनकी मानसिक उन्नति होती। बेगूसराय में भगवा बयार उन्हें दिखाई नही पड़ रहा है।” राकेश सिन्हा के ट्वीट के बाद यह कयास लगाए जाने लगे हैं कि वे लोकसभा चुनाव में इस सीट पर कन्हैया कुमार को टक्कर दे सकते हैं।

HOT DEALS
  • Moto G6 Deep Indigo (64 GB)
    ₹ 15803 MRP ₹ 19999 -21%
    ₹1500 Cashback
  • I Kall Black 4G K3 with Waterproof Bluetooth Speaker 8GB
    ₹ 4099 MRP ₹ 5999 -32%
    ₹0 Cashback

राष्ट्रकवि रामधारी सिंह की जन्मभूमि बेगूसराय को मिनी मॉस्को भी कहा जाता था। एक समय था कि यहां वामपंथ का बोलबाला था। लेकिन वर्तमान में इस सीट पर भाजपा का कब्जा है। भोला सिंह सांसद हैं। लेकिन इस बार उनका टिकट कटने की चर्चा है। इस बार यहां दो विचारधाराओं की टक्कर हो सकती है। गौरतलब है कि कन्हैया कुमार जहां वामपंथी विचारधारा के हैं तो राकेश सिन्हा संघ विचारक। दोनों दो ध्रुव के हैं लेकिन समानता यह है कि दोनों का मूल निवास बेगूसराय ही है। दोनों स्वजातिय भी हैं। लेकिन विचारधारा पूरी तरह विपरित। यदि कन्हैया कुमार के खिलाफ राकेश सिन्हा को एनडीए उम्मीदवार बनाया जाता है, तो यह लड़ाई पूरी तरह विचारधारा की होगी।

बता दें कि बिहार में मुख्य मुकाबला एनडीए और महागठबंधन के बीच है। वर्तमान में एनडीए में भाजपा, जदयू, रालोसपा और लोजपा शामिल है। वहीं, महागठबंधन में राजद, कांग्रेस, हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा, शरद यादव का लोकतांत्रिक जनता दल शामिल है। वहीं, कई जगहों पर वाम दलों के साथ आने की भी चर्चा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App