ताज़ा खबर
 

राममंदिर के लिए संसद में निजी विधेयक लाएंगे राकेश सिन्हा, ‘संवैधानिक तरीके से बनाएंगे मंदिर’

सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या जमीन विवाद के मामले की सुनवाई अगले साल जनवरी तक स्थगित कर दी थी, जिसके बाद भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े लोगों से मंदिर बनाने की तारीख पूछी जा रही थी।

राज्यसभा के सांसद और संघ विचारक प्रोफेसर राकेश सिन्हा। (Twitter/@RakeshSinha01)

राज्यसभा के सांसद और संघ विचारक प्रोफेसर राकेश सिन्हा अयोध्या में राममंदिर बनाने को लेकर संसद में निजी विधेयक लाने वाले हैं। इस बारे में उन्होंने गुरुवार को तीन ट्वीट किए। सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या जमीन विवाद के मामले की सुनवाई अगले साल जनवरी तक स्थगित कर दी थी, जिसके बाद भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े लोगों से मंदिर बनाने की तारीख पूछी जा रही थी।

प्रोफेसर सिन्हा ने ट्विटर पर कहा कि जो लोग भाजपा और आरएसएस को उलाहना देते रहते हैं कि राममंदिर की तारीख बताएं। उनसे सीधा सवाल, क्या वे मेरे निजी विधेयक का समर्थन करेंगे? समय आ गया है दूध का दूध और पानी का पानी करने का। उन्होंने अपने इस ट्वीट में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, समाजवादी पार्टी नेता व उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के नेता सीताराम येचुरी, राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष व बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव और तेलुगु देशम पार्टी के अध्यक्ष व आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू को टैग किया है।

उन्होंने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा कि मैं अयोध्या में राम मंदिर पर निजी विधेयक की प्रस्तावना लिखूंगा। तारीख पूछने वालों से प्रार्थना है कि वे मुझे अपने सुझाव भेजें। अगर राहुल गांधी, लालू प्रसाद यादव, अखिलेश यादव, मायावती जी और एन चंद्रबाबू नायडू मुझे अपने निवास स्थान पर आने के लिए कहेंगे तो मैं उनकी बहुमूल्य राय लेने के लिए वहां पहुंच जाऊंगा। इससे पहले सुबह पौने ग्यारह बजे उन्होंने ट्वीट किया था, क्या राहुल गांधी, सीताराम येचुरी, लालू प्रसाद यादव और मायावती जी अयोध्या पर निजी विधयेक का समर्थन करेंगे? ये सभी भाजपा और आरएसएस से लगातार तारीख पूछ रहे हैं। अब जवाब इन सभी को देना है। सिन्हा के तीनों ट्वीट को साढ़े पांच हजार से अधिक लोगों ने रीट्वीट किया है जबकि 14 हजार लोगों से अधिक ने इसे पसंद किया है।

‘संवैधानिक तरीके से बनाएंगे मंदिर’

भाजपा ने गुरुवार को कहा कि वह अयोध्या में संवैधानिक तरीके से राम मंदिर के निर्माण को संकल्पबद्ध है। पार्टी ने इस विषय पर निजी विधेयक या किसी अन्य विधायी पहल के बारे में कहा कि भविष्य के किसी विधेयक के बारे में कोई टिप्पणी करना उचित नहीं है। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि भाजपा संवैधानिक तरीके से राम मंदिर के निर्माण की पक्षधर है। 1989 में पालमपुर अधिवेशन में मंदिर के निर्माण के संबंध में संकल्प लिया था। इसमें कोई संशय नहीं है कि भाजपा राममंदिर के निर्माण को संकल्पबद्ध है। संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान राम मंदिर पर निजी विधेयक पेश करने की संभावना संबंधी खबरों के मुद्दे पर भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि निजी विधेयक संसद की संपत्ति है। संसद में भविष्य में पेश किए जाने वाले विधेयक के बारे में टिप्पणी करना उनके लिए उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि राममंदिर के विषय में भाजपा का संकल्प है। अगर मंदिर समर्थकों और मंदिर निर्माण विरोधियों की सूची तैयार की जाए तब मंदिर समर्थकों में संत समाज, आरएसएस, भाजपा को शामिल किया जाएगा, वहीं मंदिर निर्माण विरोधियों की सूची में कांग्रेस, सपा, बसपा जैसे विपक्षी दलों का नाम आएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App