Rajnath Singh says BJP government does not discriminate anybody on the basis of caste, creed or religion - राजनाथ सिंह बोले- भाजपा सरकार जाति, पंथ, धर्म के आधार पर कोई भेदभाव नहीं करती - Jansatta
ताज़ा खबर
 

राजनाथ सिंह बोले- भाजपा सरकार जाति, पंथ, धर्म के आधार पर कोई भेदभाव नहीं करती

शून्यकाल में कांग्रेस की रंजीत रंजन ने उत्तरप्रदेश में रोमियो स्क्वाड की ओर से हो रही कार्रवाई और कुछ बूचड़खानों को बंद करने का मुद्दा उठाया।

Author March 23, 2017 2:58 PM
लोकसभा में बोलते हुए गृह मंत्री राजनाथ सिंह। (photo source – PTI)

उत्तर प्रदेश में कुछ समुदायों को निशाना बनाये जाने के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज स्पष्ट किया कि भाजपा सरकार जाति, पंथ, धर्म के आधार पर किसी प्रकार का भेदभाव नहीं करती है और सबका साथ, सबका विकास की भावना से काम करती है। शून्यकाल में कांग्रेस की रंजीत रंजन ने उत्तरप्रदेश में रोमियो स्क्वाड की ओर से हो रही कार्रवाई और कुछ बूचड़खानों को बंद करने का मुद्दा उठाया और आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार कुछ समुदायों को निशाना बना रही है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में नई सरकार बने अभी दो..तीन दिन ही हुए हैं। ‘‘ मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि भाजपा सरकार जाति, पंथ, धर्म के आधार पर किसी प्रकार का भेदभाव नहीं करती है।’’उन्होंने कहा कि उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री ने भी स्पष्ट किया है कि सबका साथ, सबका विकास की भावना एवं सिद्धांत के आधार पर काम किया जायेगा। गृह मंत्री ने कहा कि अगर कोई विशिष्ट घटना है, तो उसकी जानकारी देने पर मामले को देखा जाएगा।

इससे पहले रंजीत रंजन ने सवाल उठाया कि अब पार्क में लड़के और लड़की को कैसे बैठना है, क्या यह सरकार सिखायेगी। उन्होंने कहा कि क्या ब्वायफ्रेंड या गर्लफ्रेंड होना कोई गलत बात है। सरकार का यही काम रह गया है?

बता दें यूपी में चल रहे एंटी रोमियो स्क्वैड कई नेताओं ने आलोचना की थी। मौलाना अंसार रजा ने इसकी निंदा करते हुए इसे मोहब्बत करने वालों पर हथौड़ा बताया था। मौलाना अंसार रजा ने बुधवार को एक अंग्रेजी टीवी चैनल के डिबेट शो में कहा कि इस मामले में थोड़ी ज्यादा सतर्कता बरतने की जरूरत है। कहीं ऐसा ना हो जाए कि बाइक पर जा रहे भाई बहन को भी पकड़कर उनकी शादी करवा दी जाए।

मौलाना अंसार रजा ने कहा कि सबसे पहले मोहब्बत,करने वालों की पहचान करने की जरूरत है। जबतक आप पहचानेंगे कि नहीं कि कौन मोहब्बत करने वाले हैं और कौन दोस्य हैं या रिश्तेदार हैं तब तक इस तरह के किसी भी स्क्वैड का कोई मतलब नहीं रह जाता। मौलाना के इस बयान के बाद काफी विवाद हुआ। कई लोगों ने इसकी निंदा की। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि किसी पर निजी हमले से उन्हें बचना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App