retweets Rajasthan CM Vasundhara Raje Zafar Khan death likely not murder - Jansatta
ताज़ा खबर
 

जफर खान मामले पर वसुंधरा राजे का ट्वीट देख भड़के लोग, पूछा- इसको हत्या कहने में शर्म क्यों आ रही है?

शुक्रवार को (16 जून, 2017) सामाजिक कार्यकर्ता और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी-लेनिनवादी) के सदस्य जफर खान ने उस दौरान कुछ सफाईकर्मचारियों को फोटो लेने से रोका जब वो खुले में शौच कर रहीं महिलाओं के फोटो ले रहे थे।

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने रविवार (18 जून, 2017) को भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी-लेनिनवादी) के कार्यकर्ता की मौत पर प्रतिक्रिया दी है। (फाइल फोटो)

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने रविवार (18 जून, 2017) को भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी-लेनिनवादी) के कार्यकर्ता की मौत पर प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘प्रतापगढ़ में जफर खान जी का निधन बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। जांच चल रही है। इसांफ मिलेगा।’ वहीं जफर खान की मौत की शुरुआती जांच के अनुसार उनकी शुक्रवार को सफाईकर्मियों ने कथित रूप से उस समय हत्या कर दी थी, जब खुले में शौच कर रहीं महिलाओं की फोटो लेने से जफर ने उन्हें रोका था। एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी। वहीं जफर खान के भाई ने अपनी शिकायत में नगर परिषद के कमिश्नर अशोक जैन सहित अन्य लोगों को भाई की मौत का जिम्मेदार ठहराया है। वहीं जैन ने कहा कि वो और उनके साथी खान की हत्या में किसी भी तरह से जिम्मेदार नहीं हैं।

क्या है मामला
बीते शुक्रवार को (16 जून, 2017) सामाजिक कार्यकर्ता और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी-लेनिनवादी) के सदस्य जफर खान ने उस दौरान कुछ सफाईकर्मचारियों को फोटो लेने से रोका जब वो खुले में शौच कर रहीं महिलाओं के फोटो ले रहे थे। सूत्रों के अनुसार सफाईकर्मचारी स्वच्छ भारत अभियान का हिस्सा थे और खुले में शौच के विरोध में एक अभियान चला रहे थे। इस दौरान खान द्वारा शौच कर रही महिलाओं की तस्वीरों लेने के विरोध में दोनों पक्षों के बीच कहासुनी हो गई। इस दौरान कथित तौर पर सफाईकर्मियों ने खान के साथ मारपीट की। जिससे बाद में जफर खान की मौत हो गई। वहीं उनके भाई नूर मोहम्मद ने एफआईआर में कमल हरिजन, रितेश हरिजन, नगर परिषद कमिश्नर अशोक जैन का नाम दर्ज कराया।

दूसरी तरफ पुलिस अधीक्षक शिवराज मीणा ने कहा, हम पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने का इंतजार कर रहे हैं, इसके बाद ही गहरी जांच-पड़ताल होगी और तभी गिरफ्तारियां की जाएंगी। उन्होंने कहा, प्रथम दृष्टया यह मामला हृदय गति रुकने का लगता है, लेकिन पोस्टमार्टम की रिपोर्ट से ही मौत के कारण का पता चल पाएगा। हम आपको आश्वासन दे सकते हैं कि हम मामले की सही और निष्पक्ष जांच करेंगे।

दूसरी वसुंधरा राजे के ट्वीट पर कई यूजर्स ने अपनी नाराजगी जाहिर की है। हरिओम शर्मा लिखते हैं, ‘ये हत्या थी क्यों आप इसे निधन बता रही हैं। क्या आप सचमुच में मुख्यमंत्री हैं?’ एक यूजर लिखते हैं कि हत्या, ये एक हत्या थी। इसको हत्या कहने में शर्म क्यों आ रही है?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App