ताज़ा खबर
 

अरविंद केजरीवाल के विश्‍वासपात्र हैं AAP के नए राजस्‍थान प्रभारी, जयपुर में ही किराए पर घर लेकर कर रहे काम

44 वर्षीय पूर्व पत्रकार दीपक बाजपयी कई अखबारों और न्यूज चैनल्स में काम कर चुके हैं। 2013 और 2015 के दिल्ली विधानसभा चुनावों में दीपक वाजपयी ने आप की मीडिया रणनीति का कार्यभार संभाला था।

अरविंद केजरीवाल। (फाइल फोटो)

कवि से राजनेता बने कुमार विश्वास को आम आदमी पार्टी के राजस्थान प्रभारी के पद से हटा दिया गया है। बुधवार को कुमार विश्वास को हटाकर यह पद दीपक बाजपयी को दे दिया गया। पिछले साल मई में दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को हटाकर कुमार विश्वास को राजस्थान आप प्रभारी बनाया गया था। आप के नए राजस्थान प्रभारी दीपक बाजपयी को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल का विश्वासपात्र बताया जाता है। 44 वर्षीय पूर्व पत्रकार दीपक बाजपयी कई अखबारों और न्यूज चैनल्स में काम कर चुके हैं।

2013 और 2015 के दिल्ली विधानसभा चुनावों में दीपक बाजपयी ने आप की मीडिया रणनीति का कार्यभार संभाला था। 2017 में दीपक को आप का कोषाध्यक्ष बनाया गया था। दीपक राजस्थान में चुनाव लड़ने को लेकर फील्ड सर्वे भी करा चुके हैं। राजस्थान में आप की पकड़ मजबूत बनाने के लिए दीपक जयपुर में एक किराए का मकान लेकर रहते हैं। आप प्रवक्ता आशुतोष का कहना है कि पार्टी ने दीपक बाजपयी को राजस्थान भेजा था ताकि जमीनी स्तर पर स्थितियों को समझा जा सके।

प्रेस कांफ्रेस के दौरान आशुतोष ने कहा कि राजस्थान विधानसभा चुनावों में आम आदमी पार्टी पूरे जोर-शोर के साथ चुनाव लड़ेगी। दीपक का कार्य पार्टी संगठन को आगामी चुनावों में मजबूत बनाना है। इसके साथ ही आशुतोष ने यह भी बताया कि दीपक पिछले डेढ़ महीने से जयपुर में रहकर पार्टी के लिए कार्य कर रहे हैं। आपको बता दें कि आप संस्थापक सदस्य कुमार विश्वास पिछले काफी समय से अरविंद केजरीवाल पर निशाना साध रहे है। राज्यसभा टिकट न मिलने के कारण कुमार विश्वास ने खुलेआम पार्टी के खिलाफ बगावत करना शुरू कर दिया था। इतना ही नहीं कुमार विश्वास ने आप द्वारा राज्यसभा भेजे गए नेताओं की योग्यता को लेकर भी सवाल खड़े किए थे। वहीं दीपक बाजपयी को राजस्थान प्रभारी की कमान सौंपकर अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी एक बार फिर से कुमार विश्वास के निशाने पर आ गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App