ताज़ा खबर
 

शख्स ने दो पत्नियों को कार में बंद कर लगा दी आग, बोला- मुझे खुश नहीं कर पाती थीं

आरोपी ने पुलिस को गुमराह करने का प्रयास किया लेकिन पूछताछ में टूट गया और हकीकत बयां कर दी।

Author Updated: December 21, 2017 3:11 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर (Source: Thinkstock images)

राजस्थान के जालौर जिले के चितलवाना थाना क्षेत्र में मंगलवार को एक कार में लगी आग से दो महिलाओं की मौत हादसा नहीं था। उनके पति ने ही अनबन के चलते अपनी दोनों पत्नियों को कार में बंद करके आग लगा दी जिससे उनकी मौत हुई थी। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बिन्जा राम ने बुधवार (20 दिसंबर) बताया कि आरोपी दीपा राम अपनी दोनों पत्नियों दरिया देवी (25 साल), और माली देवी (27 साल) को जवाहरात दिलाने का झांसा देकर कार में ले गया। इस दौरान कार में ही तीनों के बीच कहासुनी हो गयी। इससे उसे उतना तेज गुस्सा चढ़ा कि उसने रास्ते में ही कार रोक दी और नीचे उतर गया। इसके बाद इस शख्स ने दोनों पत्नियों को कार में बंद करके उसने पेट्रोल उडेलकर आग लगा दी जिससे दोनों जिंदा जलकर मर गयी।गौरतलब है कि पुलिस ने मंगलवार को बताया था कि सिसावा गांव के पास एक कार में अचानक आग लग जाने से पीछे की सीट पर बैठी दो महिलाओं की बुरी तरह जलने से मौके पर ही मौत हो गई थी।

पुलिस के मुताबिक शुरूआती जांच में सामने आया कि आरोपी ने अपनी मां को सही ढंग से नहीं रखने और पारिवारिक कलह के चलते अपनी दोनों पत्नियों से परेशान था। बाद में उसने यह भी कहा कि उसकी दोनों पत्नी ना तो उसे खुश कर पाती थीं और ना ही उसकी मां को इससे यह शख्स बेहद नाराज था। दोनों महिलाओं को जिंदा जलाने से पहले आरोपी का उनसे झगड़ा भी हुआ था। आरोपी ने पुलिस को गुमराह करने का प्रयास किया लेकिन पूछताछ में टूट गया और हकीकत बयां कर दी। पुलिस ने कहा कि शवों का पोस्टमार्टम मेडिकल बोर्ड से करवाया जायेगा। अपराध विज्ञान प्रयोगशाला के दल ने जांच के लिये नमूने ले लिये हैं। आरोपी गुजरात में काम करता है और उसके तीन बच्चे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 राजस्थान में भाजपा सरकार के लिए गुर्जर आरक्षण बना मुसीबत
2 जोधपुर कोर्ट के बाहर रिटायर्ड चीफ जस्टिस ने छुए रेप के आरोपी आसाराम के पैर