ताज़ा खबर
 

गहलोत के मंत्री पर सरकारी अधिकारी को पीटने का आरोप, कर्मचारियों ने दी बिजली ठप करने की चेतावनी

राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार में खेल मंत्री अशोक चांदना पर विद्युत विभाग के अधिशासी अभियंता से मारपीट करने का आरोप लगा है।

राजस्थान: अधिशासी अभियंता का आरोप मंत्री ने की मारपीट फोटो सोर्स -ANI

राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार में खेल मंत्री अशोक चांदना पर विद्युत विभाग के अधिशासी अभियंता से मारपीट करने का आरोप लगा है। इसके बाद पीड़ित ने मंत्री पर कार्रवाई की मांग करते हुए कहा कि हमने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है हमें मामले में इंसाफ चाहिए। अधिशासी अभियंता जेपी मीणा का आरोप है कि मंत्री चांदना आए और उन्होंने मुझसे एक कर्मचारी को बहाल करने को लेकर मारपीट करने लगे। इस घटना के चलते बूंदी जिले के विद्युत कर्मचारियों में आक्रोश है। कर्मचारियों का कहना है कि अगर मंत्री पर एक्शन नहीं लिया गया तो वे लोग धरने पर बैठेंगे। साथ ही चेतावनी दी कि यदि कोई कार्यवाही नहीं हुई तो पूरे राजस्थान में बिजली व्यवस्था ठप की जाएगी।

बता दें कि बूंदी विद्युत विभाग के अधिशासी अभियंता जेपी मीणा ने एएनआई से बात करते हुए कहा, ‘मंत्री (अशोक चंदाना) आए और उन्होंने पूछा कि मैंने एक कर्मचारी को क्यों बहाल किया है जिसे उन्होंने निलंबित करने के लिए कहा था। इसके बाद उन्होंने मुझे गाली दी और थप्पड़ मारा। उन्होंने मेरा कॉलर भी पकड़ लिया। जब मैंने उन्हें समझाने की कोशिश की तो उन्होंने कहा कि केवल उनके आदेशों का पालन किया जाएगा।’ इस घटना के बाद से जिले भर विद्युत विभाग के कर्मचारियों में रोष व्याप्त है। कर्मचारियों ने जिला कलेक्टर को ज्ञापन देकर 24 घंटे में मंत्री के खिलाफ एक्शन की मांग की है। साथ ही उन्होंने चेतावनी दी है कि अगर मंत्री खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होती है तो वह हड़ताल पर चले जाएंगे।  घटना 20 फरवरी की बताई जा रही है।

क्या है मामला- बताया जा रहा है कि मंत्री चांदना ने हिंडौली में जनसुनवाई के दौरान बीती पांच फरवरी को काछौला फीडर के हैल्पर को सस्पेंड करने को कहा था। लेकिन 12 फरवरी को अधिशासी अभियंता जेपी मीणा ने उसको फिर से फीडर पर लगा दिया। आरोप है कि इसी से बात से खफा मंत्री ने कथित तौर पर यह दुर्व्यहार किया।

बता दें कि अशोक चांदना अशोक गहलोत सरकार में खेल मंत्री हैं। विद्युत विभाग के अधिशासी अभियंता से कथित तौर पर अभद्रता करने के बाद उनके खिलाफ विद्युत विभाग के कर्मचारियों ने मोर्चा खोल दिया है। इस घटना के मद्देनजर बुधवार को जयपुर डिस्कॉम एसोसिएशन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष गोविंद सिंह चौधरी के नेतृत्व में बैठक हुई। जिसमें समस्त पदाधिकारियों व कर्मचारियों ने घटना की निंदा करते हुए मंत्री चांदना को सस्पेंड करने की मांग की है। साथ ही चेतावनी दी है कि यदि तीन दिन में कोई कार्यवाही नहीं हुई तो पूरे राजस्थान में बिजली व्यवस्था ठप करने के बाद हड़ताल पर चले जाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App