ताज़ा खबर
 

राजस्‍थान में सिर्फ 21 एससी-एसटी सीटें ही जीत पाई बीजेपी, 2013 में 50 पर था कब्‍जा

2013 के विधानसभा चुनाव में राजस्थान में कांग्रेस एक भी एससी सीट नहीं जीत पाई थी। बीजेपी ने 32 सीट जीती थीं। इसके अलावा एक सीट नेशनल पीपल्स पार्टी (NPP) और एक सीट नेशनल यूनियनिस्ट जमींदारा पार्टी (NUZP) ने जीती थी।

Rajasthan Assembly election Results 2018, Election Results 2018, Rajasthan Election Results Updates, Rajasthan Results, Rajasthan Assembly Election Results, Rajasthan Vidhan Sabha election resultsतस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (फाइल फोटो)

राजस्थान में हुए विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी एससी/एसटी के लिए रिजर्व 59 सीटों में से केवल 21 सीट पर ही जीत दर्ज कर पाई। पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी का 50 सीटों पर कब्जा था। 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी एससी के लिए रिजर्व सीटों में से केवल 12 सीट पर ही जीत दर्ज कर पाई। वहीं 2013 में पार्टी का 32 सीटों पर कब्जा था। इसके अलावा इस बार एसटी के लिए रिजर्व 18 सीटों में से 9 सीट पर ही जीत दर्ज कर पाई। बीजेपी अरवर, भरतपुर, दौंसा, धोलपुर, करौली, सवाई माधोपुर और टोंक जिले में से एक भी एससी एसटी के लिए रिजर्व सीट पर जीत दर्ज नहीं कर पाई। इन राज्यों में सुप्रीम कोर्ट के एससी एसटी पर फैसले के बाद काफी हिंसा हुई थी और 2 अप्रैल को भारत बंद का आह्वान किया गया था। राजनीतिक विशेषज्ञों का मानना है कि इस भारत बंद और पार्टी के खिलाफ एंटी इनकंबेंसी फेक्टर की वजह से एससी एसटी सीटों पर हार का सामना करना पड़ा।

दलित समूहों ने राज्य के कई हिस्सों में रेल और सड़क यातायात को अवरुद्ध कर दिया था, और संपत्ति बर्बाद किया था। कुछ दिन बाद ऊपरी जाति समुदायों ने राज्य भर में बंद का आह्वान किया था। बीजेपी के खिलाफ असंतोष से कांग्रेस ने राजस्थान के पूर्वी जिलों में इनमें से अधिकतर सीटें जीती हैं, जो एससी/एसटी समुदायों का प्रभुत्व है। बीजेपी के असंतुष्ट हनुमान बेनीवाल की राष्ट्रीय लोक तांत्रिक पार्टी (आरएलटीपी) भी दो अनुसूचित जाति सीटों पर विजेता बनकर उभरी और एक निर्दलीय उम्मीदवार द्वारा भी जीत  हासिल हुई। एसटी सीटों पर, भारतीय जनजातीय पार्टी (बीटीपी) के दो और दो निर्दलीय उम्मीदवार इस बार जीते हैं।

2013 के विधानसभा चुनाव में राजस्थान में कांग्रेस एक भी एससी सीट नहीं जीत पाई थी। बीजेपी ने 32 सीट जीती थीं। इसके अलावा एक सीट नेशनल पीपल्स पार्टी (NPP) और एक सीट नेशनल यूनियनिस्ट जमींदारा पार्टी (NUZP) ने जीती थी। 2013 में कांग्रेस ने राजस्थान में 4 एसटी सीटों पर जीत हासिल की थी और बीजेपी के खाते में 18 सीट गई थीं। इसके अलावा 2 सीट नेशनल पीपल्स पार्टी ने और एक सीट निर्दलीय उम्मीदवार ने जीती थी।

Next Stories
1 लव स्टोरी: सचिन पायलट की मुस्कान पर फिदा थी सीएम की बेटी, तीन साल किया डेट, फिल्मी स्टाइल में पिता ने लगाया था प्यार पर पहरा
आज का राशिफल
X