ताज़ा खबर
 

अब पद्मावती के समर्थन में उतरे यहां की रानी, बोली- बंद हो विरोध पर्दर्शन

मेरी जान-पहचान का एक लड़का है, जो भंसाली का बहुत करीबी है और फिल्म के निर्माण से जुड़ा हुआ है। उसने मुझे बताया कि फिल्म में एक भी दृश्य ऐसा नहीं है, जिसको लेकर आप दोषारोपण कर सकती हैं।

Author November 27, 2017 11:56 AM
फिल्म पद्मावत का एक दृश्य।

राजस्थान में बदनोर रियासत की कंवर रानी अर्चना सिंह का कहना है कि संजयलीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ को लेकर विरोध प्रदर्शन बहुत हो गया और अब इसे बंद करना चाहिए। अर्चना सिंह पूर्व के राजपूत राजपरिवार से आती हैं और इनकी शादी बदनोर रियासत के कंवर रणजय सिंह से हुई है। अर्चना सिंह कहती हैं कि वह पहले फिल्म देखना पसंद करेंगी, उसके बाद उसपर अपनी प्रतिक्रिया देंगी। उनका कहना है कि हर किसी को ‘असहिष्णु’ होने के बजाय ऐसा ही करना चाहिए।

‘रॉयल फेबल्स पैलेस कारखाना’ कार्यक्रम से इतर आईएनएस से बातचीत में कंवर रानी अर्चना सिंह ने कहा, “मुझे लगता है कि ‘पद्मावती’ को लेकर विवाद पूरी तरह भ्रामक है। मेरी जान-पहचान का एक लड़का है, जो भंसाली का बहुत करीबी है और फिल्म के निर्माण से जुड़ा हुआ है। उसने मुझे बताया कि फिल्म में एक भी दृश्य ऐसा नहीं है, जिसको लेकर आप दोषारोपण कर सकती हैं। वह खुद भी राजपूत है। उसने कहा कि फिल्म देखने के बाद राजपूत लोग भंसाली को गले लगाएंगे।” गौरतलब है कि करणी सेना व अन्य राजपूत समुदायों की ओर से फिल्म पर प्रतिबंध लगाने की मांग की जा रही है। उनका दावा है कि फिल्म में इतिहास को विकृत करके पेश किया गया है।

HOT DEALS
  • Lenovo K8 Plus 32GB Fine Gold
    ₹ 8184 MRP ₹ 10999 -26%
    ₹410 Cashback
  • ARYA Z4 SSP5, 8 GB (Gold)
    ₹ 3799 MRP ₹ 5699 -33%
    ₹380 Cashback

फिल्म के कुछ दृश्यों, जिनमें फिल्म में पद्मावती का किरदार निभा रही अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की ओर से पेश नृत्य भी शामिल है, से राजपूत समुदाय के लोग नाराज हैं।  ‘पद्मावती’ को लेकर विरोध प्रदर्शन शुक्रवार को गहरा गया, जब ‘पद्मावती’ के विरोध में नारों के साथ राजस्थान के एक किले में एक शव लटकता पाया गया। अर्चना सिंह ने कहा, “यह बात हास्यास्पद है। मैं राजपूत हूं, लेकिन बहुत सारे राजपूत लोग हिंसा के पक्ष में आए हैं। इसलिए जो कुछ हो रहा है, वह ठीक नहीं है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App