scorecardresearch

पैगंबर व‍िवाद: ह‍िंसा की धमकी देने वाला मौलाना गिरफ्तार, राहुल बोले- नफरत नूपुर शर्मा नहीं, बीजेपी फैला रही

नूपुर शर्मा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर भड़काऊ भाषण और हिंसा की धमकी देने वाले मौलाना मुफ्ती नदीम को राजस्थान पुलिस ने बूंदी से गिरफ्तार कर लिया है। आरोप है कि उसने अपने भड़काऊ भाषणों से लोगों को उकसाने की कोशिश की थी।

Rahul Gandhi| Congress
कांग्रेस नेता राहुल गांधी (फोटो सोर्स- एएनआई)

उदयपुर में टेलर कन्हैयलाल की हत्या के बाद राजस्थान पुलिस एक्टिव हो गई है। पुलिस ने नूपुर शर्मा के खिलाफ भड़काऊ बयान देने वाले मौलाना मुफ्ती नदीम को बूंदी से गिरफ्तार कर लिया है। मौलाना ने हिंसा की धमकी भी दी थी। उदयपुर की घटना के बाद लोग वैसे भी आक्रोश में हैं, ऐसे में मौलाना को गिरफ्तार ना करने पर राजस्थान पुलिस पर सवाल खड़े हो रहे थे।

मौलाना ने नूपुर शर्मा के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए कहा था कि अगर कोई आंख उठाएगा तो उसकी आंख नोच लेंगे और अगर उंगली उठाएगा तो उंगली तोड़ देंगे और हाथ उठाया तो हाथ काट देंगे। उसने लोगों को उकसाते हुए कहा था कि पैंगबर पर टिप्पणी करने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं होगी तो मुस्लिम समाज रिएक्शन करना भी जानता है।

राहुल का बयान, देश में नफरत फैला रही बीजेपी
उधर, कांग्रेस नेता राहुल गांधी एक बार फिर बीजेपी पर हमलावर नजर आए और कहा कि नफरत नूपुर शर्मा नहीं बल्कि बीजेपी फैला रही है। राहुल गांधी ने कहा, “देश में जो माहौल है वो सत्ताधारी सरकार ने बनाया है। माहौल खराब करने वाला वो व्यक्ति नहीं जिसने टिप्पणी की, बल्कि यह प्रधानमंत्री, गृहमंत्री, बीजेपी और आरएसएस हैं।”

उन्होंने कहा, “ये लोग देश में गुस्से और नफरत का माहौल बना रहे हैं और मैं कहूंगा कि ऐसा माहौल बनाना राष्ट्रविरोधी है। ये देश और देश की जनता के हित में नहीं है और ये पूरी तरह से गलत है, जो बड़ी त्रासदी का कारण बनेगा। वहीं, कांग्रेस ने लोगों और समुदायों के साथ रिश्ते बनाकर उन्हें साथ लाने का काम किया है।”

गौरतलब है कि नूपुर शर्मा को शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट से कड़ी फटकार लगी है। कोर्ट ने कहा कि पैगंबर पर उनकी टिप्पणी के कारण देशभर में लोगों की भावनाएं भड़की हैं, देश में जो कुछ आज हो रहा है, उसके लिए वो जिम्मेदार हैं। दरअसल, इस मामले में उन पर देश के अलग-अलग हिस्सों में केस दर्ज हुए, जिन्हें दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग को लेकर वो सुप्रीम कोर्ट पहुंची हैं। हालांकि कोर्ट से उन्हें कोई राहत नहीं मिली है।

पढें राजस्थान (Rajasthan News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X