ताज़ा खबर
 

जानिए क्यों शादी का यह कार्ड हो रहा है सोशल मीडिया पर वायरल, पीएम मोदी से क्या है वास्ता

कार्ड पर स्वच्छता लोगो के नीचे लिखा है- "मेरा सपना, घर परिवार का सपना, शौचालय उपयोग ही, सम्मान है अपना।"

राजस्थान के झालावाड़ में एक शादी कार्ड पर श्लोकों की जगह छपा है स्वच्छता का संदेश। (स्क्रीशॉट)

अक्सर लोग शादियों में कुछ ऐसा करते हैं जिससे कि वो शादी यादगार बन जाती है। कभी हेलीकॉप्टर से फूल बरसाना तो कभी हेलीकॉप्टर से बाराती आना, आसमान में शादी करना ये सब पहले से होते आ रहे हैं लेकिन इस बार एक परिवार ने शादी के कार्ड पर श्लोकों की जगह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान का लोगो लगाया है और चार दोहे लिखे हैं। यह वाकया राजस्थान के झालावाड़ जिले का है, जहां दूल्हे पूरीलाल के चाचा रामविलास मीना ने ऐसा कार्ड छपवाकर लोगों के बीच स्वच्छता के प्रति जागरूकता लाने की कोशिश की है। मीना पंचायत प्रसार एवं स्वच्छता अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं।

पूरीलाल की शादी शनिवार दिनांक-29 अप्रैल, 2017 को है। शादी से पहले यह कार्ड सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। कार्ड पर स्वच्छता लोगो के नीचे लिखा है- “मेरा सपना, घर परिवार का सपना, शौचालय उपयोग ही, सम्मान है अपना।” दूसरे दोहे में लिखा है, “घर महकेगा, परिवार महकेगा, बेटी पढ़ाओ, जग महकेगा।” तीसरे दोहे में लिखा है, “जन-जन का है, बस एक ही सपना, खुले में शौच मुक्त हो भारत अपना।” एक अन्य दोहे में लिखा है, “जन-जन की है जिम्मेदारी, घर-घर शौचालय ही समझदारी।”

HOT DEALS
  • Lenovo Phab 2 Plus 32GB Gunmetal Grey
    ₹ 17999 MRP ₹ 17999 -0%
    ₹900 Cashback
  • Jivi Energy E12 8 GB (White)
    ₹ 2799 MRP ₹ 4899 -43%
    ₹0 Cashback

कार्ड पर बाल विवाह के बारे में भी लिखा है कि बाल विवाह अभिशाप ही नहीं, कानून अपराध भी है। शायद इसीलिए दूल्हे के नाम के आगे उसकी जन्म तिथि (11 फरवरी, 1996) और दुल्हन पद्मा की जन्म तिथि (19 मार्च, 1999) लिखा है। यानी दुल्हे की उम्र 21 वर्ष और दुल्हन की उम्र 18 साल से ज्यादा है। दूल्हे के चाचा रामविलास मीना को जिला एवं राज्य स्तर पर पहले भी उत्कृष्ट योगदान के लिए सम्मानित किया जा चुका है। कुछ दिनों पहले ही हाडोती संभाग की प्रथम ओडीएफ पंचायत समिति खानपुर के पहले पायदान पर आने पर मीना की प्रशंसा हुई थी।

हाल ही में बिहार के पूर्णिया जिले के बिरनिया गांव में भी एक दूल्हे ने अपनी शादी के कार्ड में ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ और बिन शौचालय दुल्हन का श्रृंगार अधूरा है’ का संदेश छपवाया था। दूल्हे ने जैसे ही शादी का कार्ड अपने रिश्तेदारों में बांटा, तो लोग दूल्हे की पीठ थपथपाने लगे। यह बात पूरे जिले में फैल गई। शादी रचा रहे वरूण कुमार की इस पहल का जिले के उप विकास आयुक्त ने भी स्वागत किया और उसे इसके लिए शाबासी दी। दूल्हा वरुण बैसा प्रखंड में सहायक के पद पर कार्यरत हैं।

वीडियो: गुजरात के नर्मदा जिले में लोग शौचालयों के साथ सेल्फी ले रहे हैं, जानिए क्यों

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App