ताज़ा खबर
 

राजस्‍थान: उपचुनाव में कांग्रेस ने बीजेपी को दी कड़ी टक्‍कर, बस एक सीट कम जीती

राजस्थान में निकाय संस्था के पांच वार्डो में हुए उपचुनाव के शुक्रवार (6 अक्टूबर) को घोषित नतीजों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) तीन पर और कांग्रेस दो वार्ड में विजयी रही।

BJP, CONGRESSहिमाचल प्रदेश के विधानसभा चुनाव में उतरे कुल 338 उम्मीदवारों में से 61 उम्मीदवारों (18 प्रतिशत) ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं।

राजस्थान में निकाय संस्था के पांच वार्डो में हुए उपचुनाव के शुक्रवार (6 अक्टूबर) को घोषित नतीजों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) तीन पर और कांग्रेस दो वार्ड में विजयी रही। प्रतिष्ठित जयपुर नगर निगम के वार्ड संख्या 76 में कांग्रेस के इकरामुद्दीन ने भाजपा के अशोक अग्रवाल को पांच हजार एक सौ 91 मतों से पराजित किया। उप चुनाव में इकरामुद्दीन ने सबसे अधिक मतों से जीत अपने नाम दर्ज की है। राजस्थान राज्य निर्वाचन आयोग प्रवक्ता के अनुसार करौली जिले के टोडाभीम नगर पालिका के वार्ड संख्या 19 में भाजपा की रवीना ने निर्दलीय के के मीना को 77 मतों से, सीकर जिले के लोसल नगर पालिका के वार्ड संख्या 24 में भाजपा के मदन लाल ने कांग्रेस उम्मीदवार को 117 मतों से, पाली जिले के खुडाला के वार्ड संख्या एक में भाजपा के देवेन्द्र ने कांग्रेस के सुरेश कुमार को 145 मतों से जबकि टोंक जिले के मालपुरा नगर पालिका उपचुनाव में कांग्रेस की मनीषा ने भाजपा की रिंकू को चौबीस मतों से पराजित किया। जयपुर नगर निगम उपचुनाव में जीत दर्ज करने वाले इकरामुद्दीन ने संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा कि राजस्थान में कांग्रेस की जीत की शुरूआत हो गई है और आने वाले चुनावों में भी कांग्रेस यहीं सिलसिला जारी रखेगी। उन्होंने इस जीत को कार्यकर्ताओं और उनकी मेहनत का नतीजा बताया है।

गौरतलब है कि राजस्थान में अजमेर और अलवर लोकसभा उपचुनाव की तैयारी में लगी भाजपा को जयपुर नगर निगम के उपचुनाव के नतीजे से करारा झटका लगा है। जयपुर नगर निगम में कांग्रेस की जोरदार जीत ने अब दो लोकसभा सीटों के होने वाले उपचुनाव को रोचक बना दिया है। जयपुर में मिली जीत के बाद कांग्रेस में खासा उत्साह पनप गया है। प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष राजीव अरोड़ा का कहना है कि जयपुर में भाजपा की हार से साफ हो गया है कि जनता अब बदलाव चाहती है। जनता में महंगाई, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी को लेकर भाजपा के प्रति गहरी नाराजगी है। प्रदेश का किसान और युवा वर्ग भी भाजपा सरकार की नीतियों से परेशान हो उठा है। जयपुर नगर निगम में रिकार्ड वोटों से कांग्रेस को मिली जीत ही संकेत देती है कि अगले साल होने वाले चुनाव में भाजपा की हार तय है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 राजस्‍थान से बीजेपी के लि‍ए बुरी खबर, जयपुर उपचुनावों में भारी पड़ी कांग्रेस
2 7th Pay Commission: राजस्थान सरकार आज कर सकती है सातवें वेतन आयोग की घोषणा
3 आम आदमी पार्टी को भी लगा गणेश परिक्रमा का रोग: कुमार विश्वास
IPL 2020 LIVE
X