ताज़ा खबर
 

राजस्थान बीजेपी ने यशवंत सिन्हा को बताया पार्टी का वरिष्ठ नेता, बधाई भी दी

खास बात यह है कि राजस्थान भाजपा के अलावा, पार्टी के किसी अन्य ट्विटर हैंडल से यशवंत सिन्हा की जन्मदिन की बधाई नहीं दी गई।

पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने इस साल अप्रैल में भाजपा को अलविदा कह दिया था। (फाइल फोटो)

राजस्थान में भाजपा, पूर्व केंद्रीय मंत्री और दिग्गज राजनेता यशवंत सिन्हा को जन्मदिन की बधाई देकर ट्विटर यूजर्स के निशाने पर आ गई है। यूजर्स राज्य की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर खूब तंज कस रहे हैं। दरअसल सिन्हा इस साल अप्रैल में पार्टी आलाकमान से मतभेद के चलते भाजपा छोड़ चुके हैं। इसके बाद भी राजस्थान भाजपा के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर लिखा गया, ‘भाजपा के वरिष्ठ नेता, पूर्व केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री यशवंत सिन्हा जी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं। ईश्वर आपको स्वस्थ एवं दीर्घायु रखें।’ खास बात यह है कि राजस्थान भाजपा के अलावा, पार्टी के किसी अन्य ट्विटर हैंडल से यशवंत सिन्हा की जन्मदिन की बधाई नहीं दी गई। राजस्थान भाजपा द्वारा सिन्हा को बधाई देने पर वरिष्ठ पत्रकार शीला भट्ट लिखती हैं, ‘क्या?’ एक कमेंट में लिखा गया कि यही एक वजह है जो मोदी राजस्थान और मध्यप्रदेश में सक्रिय रूप से प्रचार नहीं कर रहे हैं। ब्रिज बिहारी नाम से ट्वीट कर लिखा गया, ‘यशवंत सिन्हा पार्टी छोड़ चुके हैं। कम से कम जब तक वह पार्टी में वापस नहीं आते उन्हें भाजपा नेता तो ना बुलाएं।’ एक कमेंट में लिखा गया, ‘क्या यह किसी तरह की चेतावनी है?’ एम गुलाटी लिखते हैं, ‘अरे, बग़ावत… आवत जावत… वापस बुलावत..।’

हालांकि बाद में भाजपा समर्थकों की नाराजगी पर राजस्थान के भाजपा आईटी सेल इंचार्ज नरेंद्र कौशिक ने सफाई दी है। उन्होंने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, ‘जन्मदिन की बधाई देना अलग बात है। यहां तक सचिन पायलट और अशोक गहलोत पार्टी के खिलाफ बोलते हैं, मगर उनके जन्मदिन पर हम उन्हें शुभकामनाएं देते हैं। इसका मतलब यह नहीं है कि हम उनकी विचारधारा की सदस्यता ले रहे हैं।’ आईटी सेल इंचार्ज ने कहा कि सात सितंबर को भाजपा राजस्थान ट्विटर अकाउंट से राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट को उनके जन्मदिन पर बधाई दी गई थी।

बता दें कि पिछले दिनों सिन्हा ने कहा था कि जनता को पीएम मोदी को ‘माफ’ नहीं करना चाहिए। लोगों को 2019 के लोकसभा चुनावों में उनकी सरकार को ‘उखाड़ फेंकना’ चाहिए। सिन्हा ने कहा कि यह सरकार सभी मोर्चों पर नाकाम रही है। हर कोई परेशान है, चाहे वह किसान हो, युवा हों, महिलाएं हों या दलित हों। केवल नए नारे दिए जा रहे हैं। एकमात्र समाधान अगले (लोकसभा) चुनावों में इस सरकार को उखाड़ फेंकना है।

उन्होंने आगे कहा, ‘मैं माफी मांगना चाहता हूं क्योंकि मैं 2014 के आम चुनावों से पहले उस समय भाजपा का हिस्सा था, जब दावे किए जा रहे थे। लेकिन मैं नहीं चाहता कि आप अगले चुनावों में उन्हें (मोदी) माफ करें।’ इस दौरान भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने भी मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था, ‘मैं किसी निजी फायदे के लिए राजनीति में नहीं आया। यदि मेरी पार्टी कल मुझे बर्खास्त कर देती है तो मैं शिकायत नहीं करूंगा। मैं देश को लोगों को अपनी पार्टी से ज्यादा प्यार करता हूं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App