ताज़ा खबर
 

राजस्थान मंत्रिमंडल में फेरबदल समेत कई काम टले, तीसरी सालगिरह की सुंदरता पर लगेगा ग्रहण

सरकार के तीन साल के जश्न के कार्यक्रम भी बाद में तय किए जाएंगे। पार्टी के कार्यकर्ता बैंक और एटीएम के बाहर लगने वाली लाइन में लोगों की मदद करेंगे।
Author जयपुर | November 16, 2016 02:42 am
राजस्थान की सीएम वसुधंरा राजे। (फाइल फोटो)

राजस्थान में नोटबंदी के चलते वसुंधरा मंत्रिमंडल का फेरबदल और राजनीतिक नियुक्तियों का काम टल गया है। इसके साथ ही वसुंधरा सरकार की तीसरी वर्षगांठ को भी अब मामूली ढंग से मनाने का फैसला किया गया है। भाजपा ने तमाम राजनीतिक कामों को टालते हुए बैंकों के बाहर जमा भीड़ की मदद के लिए अपने कार्यकर्ताओं को तैनात करने की घोषणा की है। राज्य में नोटबंदी से उपजे हालातों ने सरकार और भाजपा की प्राथमिकताओं को बदल दिया है। प्रदेश में वसुंधरा राजे सरकार 12 दिसंबर को अपने शासन के तीन साल पूरे कर रही है। भाजपा और सरकार ने पूर्व में तीसरी वर्षगांठ को पूरे प्रदेश में धूमधाम तरीके से मनाने का एलान किया था। इसके साथ ही मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे तीसरी वर्षगांठ से पहले ही अपने मंत्रिमंडल में फेरबदल कर कुछ विधायकों को मंत्री पद देने की तैयारी में भी थी। इसके अलावा कई भाजपा नेताओं को सरकार में राजनीतिक पद मिलने की भी पूरी संभावना थी। इस बारे में भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने भी मुख्यमंत्री को हरी झंडी दे दी थी।

मंत्रिमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियों को टालने का फैसला प्रदेश भाजपा की यहां हुई कोर कमेटी में हुआ। इस बैठक में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी के साथ ही राष्ट्रीय प्रभारी संगठन मंत्री वी सतीश के साथ ही कोर कमेटी के सदस्य मौजूद थे। बैठक के बाद प्रदेश अध्यक्ष परनामी ने कहा कि इसमें मंत्रिमंडल विस्तार, तीन साल पूरे होने के जश्न और नोटबंदी के मामलों पर चर्चा हुई। परनामी ने संकेत दिया कि अब राजनीतिक फैसले सरकार की तीसरी वर्षगांठ के बाद ही किए जाएंगे। सरकार के तीन साल के जश्न के कार्यक्रम भी बाद में तय किए जाएंगे।परनामी ने बताया कि पार्टी के कार्यकर्ता बैंक और एटीएम के बाहर लगने वाली लाइन में लोगों की मदद करेंगे।

कोर कमेटी ने प्रधानमंत्री के नोटबंदी के एलान को देश हित में करार दिया। पार्टी आलाकमान के निर्देश के बाद कार्यकर्ताओं को आम जनता की मदद के लिए आगे आने को कहा गया है। इसके साथ ही नोटबंदी से जुड़ी तमाम जानकारियों को जुटा कर पार्टी नेतृत्व तक पहुंचाने के निर्देश भी कार्यकर्ताओं को दिए गए है। परनामी ने कहा कि प्रदेश में सत्ता और संगठन एकजुट होकर काम कर रहे हैं। सरकार ने तीन साल में जन हित की कई योजनाओं को लागू किया है। उन्होंने प्रतिपक्ष के आरोपों को नकारते हुए कहा कि जनता केंद्र और राज्य की भाजपा सरकार के कामकाज से खुश है। परनामी ने कांग्रेस पर जनता में भ्रम फैलाने का आरोप भी लगाया।

प्रदेश कोर कमेटी ने विकास कार्यो की बुकलेट प्रकाशन में विधायकों की लापरवाही पर भी नाराजगी जताई। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सभी भाजपा विधायकों को ढाई साल के शासन में अपने विधानसभा क्षेत्रों में किए गए विकास कामों की पुस्तिका छपवा कर बांटने के निर्देश दिए थे। कोर कमेटी की बैठक में सामने आया कि इस काम में विधायक रूचि नहीं ले रहे हैं। प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि अभी तक आधे विधायकों ने अपने इलाके की पुस्तिका प्रकाशित नहीं की है। उन्होंने ऐसे विधायकों को चेतावनी दी है कि वे अपने विकास कामों की पुस्तिका जल्द प्रकाशित करवाएं।

बैंक पहुंची प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां; 4500 रुपए के नोट बदलवाएव

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.