ताज़ा खबर
 

राजस्थान: सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के मामले में पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता गिरफ्तार

पूर्व मंत्री राजेंद्र सिंह गुढा अपने गावं झुंझनूं जिले के गुढा में सवेरे की सैर कर रहे थे, उसी दौरान पुलिस ने उन्हें गिरफतार कर लिया।

Author जयपुर | September 20, 2016 8:36 AM
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

राजस्थान की कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे राजेंद्र सिंह गुढा को सोमवार को पुलिस ने राजकार्य में बाधा डालने और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। पूर्व मंत्री सोमवार को अपने गावं झुंझनूं जिले के गुढा में सवेरे की सैर कर रहे थे, उसी दौरान पुलिस ने उन्हें गिरफतार कर लिया। गिरफ्तारी की सूचना के बाद उनके समर्थकों ने पुलिस थाने पर विरोध प्रदर्शन भी शुरू कर दिया। इससे इलाके में तनाव के हालात बन गए। झुंझनूं जिला पुलिस का कहना है कि गुढा की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे थे। पुलिस को सूचना मिली थी कि पूर्व मंत्री सोमवार को अपने गांव में रहेंगे। इसके बाद ही भारी पुलिस बल के साथ उन्हें गिरफ्तार किया गया। उन्हें पकड़ने के लिए पुलिस को भारी मशक्कत करनी पड़ी। उन्हें गिरफतार कर उदयपुरवाटी पुलिस थाने लाया गया। इसके बाद बडी संख्या में लोग थाने के बाहर जमा हो गए।

पुलिस ने पूरे इलाके में सुरक्षा के कडेÞ इंतजाम किए हैं। पुलिस का कहना है कि गत 14 जुलाई को इलाके में ग्रामीण परिवहन सेवा की एक बस ने बाइक सवार को कुचल दिया था। इसमें बाइक सवार की मौत हो गई थी। हादसे से गुस्साए ग्रामीण शव लेकर वहीं बैठ गए थे और रास्ता जाम कर दिया था। उस दौरान ग्रामीणों ने पुलिस के खिलाफ नाराजगी जताते हुए बड़ा प्रदर्शन भी किया था। ग्रामीणों का आरोप था कि सूचना देने के बाद भी पुलिस दो घंटे देरी से मौके पर पहुंची थी। इसके साथ ही ग्रामीणों का कहना था कि जिस रास्ते पर दुर्घटना घटी थी, वहां बसों का संचालन भी नहीं होता है।प्रदर्शन के दौरान ही ग्रामीणों ने पूर्व मंत्री राजेंद्र सिंह गुढा को भी मौके पर बुला लिया था। पूर्व मंत्री के पहुंचने पर ग्रामीणों में और जोश आ गया था। इसी दौरान प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प हो गई थी। पूर्व मंत्री की थानेदार रामलाल से धक्का मुक्की के साथ मारपीट तक की नौबत आ गई थी। प्रशासन के आला अफसरों की समझाइश के बाद ग्रामीणों ने शव को उठा लिया था।

पुलिस ने इसके बाद ही गुढा समेत दो दर्जन से ज्यादा लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था। पुलिस का कहना है कि गिरफतारी के बाद गुढा समर्थकों की समझाइश की जा रही है। राजेंद्र सिंह गुढा पूर्व की अशोक गहलोत सरकार में मंत्री रहे है। उन्होंने बसपा के टिकट पर चुनाव जीता था। इसके बाद उनके नेतृत्व में बसपा के सभी छह विधायक कांग्रेस में शामिल हो गये थे। इसके बाद ही गुढा को राज्यमंत्री बनाया गया था। गुढा की गिरफतारी पर प्रदेश कांग्रेस ने भी नाराजगी जताई है।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App