scorecardresearch

राजस्थान की उठापटक में गहलोत को क्लीन चिट, ऑब्जर्वर ने तीन समर्थकों के सिर फोड़ा ठीकरा

कांग्रेस विधायक दिव्या मदेरणा ने भी राजस्थान में सियासी घटनाक्रम के लिए शांति धारीवाल और महेश जोशी को जिम्मेदार ठहराया है।

राजस्थान की उठापटक में गहलोत को क्लीन चिट, ऑब्जर्वर ने तीन समर्थकों के सिर फोड़ा ठीकरा
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Photo- File)

राजस्थान में जारी सियासी घटनाक्रम के बीच कांग्रेस के केंद्रीय पर्यवेक्षक अजय मकान और मल्लिकार्जुन खड़गे ने अपने रिपोर्ट पार्टी अध्यक्ष सोनिया को सौंप दी है। इस रिपोर्ट की सबसे अहम बात है कि इसमें राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को क्लीन चिट दी गई है। जबकि राजस्थान कांग्रेस के तीन नेताओं के खिलाफ कार्यवाही की अनुशंसा की गई है। जिन नेताओं के खिलाफ कार्यवाही की मांग की गई है, वह तीनों अशोक गहलोत के करीबी नेता बताए जाते हैं।

हालांकि अभी रिपोर्ट के बारे में कोई जानकारी आधिकारिक तौर पर नहीं आई है। लेकिन सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि पर्यवेक्षकों ने 9 पन्नों की रिपोर्ट सौंपी है और रिपोर्ट में साफ लिखा गया है कि अशोक गहलोत की पूरी घटनाक्रम के दौरान कोई भूमिका नहीं थी। इसके साथ ही इस रिपोर्ट में शांति धारीवाल, प्रताप सिंह खाचरियावास और धर्मेंद्र राठौर के खिलाफ कार्रवाई की अनुशंसा की गई है।

वहीं जयपुर में आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने मंत्रियों के साथ एक अनौपचारिक मीटिंग की। अशोक गहलोत अपने मंत्रियों के साथ अपने घर के बाहर मैदान में खड़े होकर बातचीत करते हुए दिखाई दिए।

दिव्या मदेरणा ने भी धारीवाल को बताया गद्दार

बता दें कि पर्यवेक्षकों की रिपोर्ट में धारीवाल के खिलाफ कार्यवाही की मांग की गई है। तो वहीं कांग्रेस विधायक दिव्या मदेरणा ने भी शांति धारीवाल और महेश जोशी को इस पूरे घटनाक्रम के लिए जिम्मेदार बताया है। उन्होंने एक समाचार चैनल से बात करते हुए कहा, “गद्दारी की बात हो रही है तो गद्दारी स्वयं शांति धारीवाल और महेश जोशी ने ही की है। सीएलपी के लीडर होकर खुद बैठक में नहीं आते हैं। आज अगर कोई सबसे अधिक पीड़ित है तो वो कांग्रेसी कार्यकर्ता है और इसके लिए अगर कोई जिम्मेदार है तो शांति धारीवाल और महेश जोशी हैं।”

बता दें कि रविवार को शांति धारीवाल के घर पर अशोक गहलोत के समर्थक विधायकों की बैठक हुई थी। इस बैठक में सभी विधायकों ने कहा था कि वह इस्तीफा देने के लिए तैयार है। वहीं अब विधायकों ने यू टर्न लेना शुरू कर दिया है। शांति धारीवाल के घर पर बैठक में शामिल हुए विधायक जितेंद्र सिंह और रामनारायण मीणा ने कहा है कि उन्हें पूरे मामले की जानकारी नहीं थी। उन्होंने कहा कि वह कांग्रेस आलाकमान के साथ हैं और जो भी फैसला पार्टी आलाकमान द्वारा लिया जाएगा, वही उनको मान्य होगा।

पढें जयपुर (Jaipur News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 27-09-2022 at 08:51:24 pm