ताज़ा खबर
 

राजस्थान: भाजपा MLA ने पार्टी के खिलाफ खोला मोर्चा, नोटिस मिला तो बोले- गंदी नाली गंगा को पवित्र रहने का उपदेश दे रही

वसुंधरा राजे की पहली सरकार में शिक्षा मंत्री रहे तिवारी पहले भी कई बार वसुंधरा सरकार को घेरते आए हैं

Author May 8, 2017 4:08 PM
भाजपा के वरिष्ठ विधायक घनश्याम तिवारी

राजस्थान भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ विधायक घनश्याम तिवारी ने पार्टी आलाकमान से अनुशासनहीनता को लेकर नोटिस जारी होने की चर्चाओं के बीच भ्रष्टाचार के खिलाफ अपना संघर्ष जारी रखने की बात कहते हुए कहा कि मुझे अभी तक कोई नोटिस नहीं मिला है, यदि नोटिस मिलता है तो उसका माकूल जवाब दिया जायेगा। तिवारी ने अनुशासनहीनता के नोटिस पर चुटकी लेते हुए कहा कि हालात देखिये गंदी नाली गंगा को पवित्र रहने का उपदेश दे रही है। वसुंधरा राजे की पहली सरकार में शिक्षा मंत्री रहे और मौजूदा भाजपा शासन में मंत्रिपरिषद में जगह पाने में विफल रहे विधायक तिवारी ने बयान में कहा कि आलाकमान की ओर से मुझे अभी तक कोई नोटिस नहीं मिला है, यदि नोटिस मिलेगा तो उसका उचित जवाब दिया जायेगा। उन्होंने दो टूक शब्दों में कहा कि राजस्थान में भ्रष्टाचार को किसी भी हालत में स्वीकार नहीं करेंगे जिसे जो कुछ करना है करे।

दीनदयाल वाहिनी के बैनर तले प्रदेश में भ्रष्टाचार के खिलाफ संघर्ष कर रहे तिवारी ने अपने आवास पर जुटे समर्थकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि जेपी आन्दोलन की शुरूआत गांधीनगर गुजरात से हुई लेकिन भ्रष्टाचार के इस आन्दोलन की शुरुआत जयपुर से होगी। उन्होंने युवाओं से कहा कि भ्रष्टाचारी सरकार के खिलाफ किसी भी प्रकार से डरने और घुटने टेकने की जरूरत नहीं है। तिवारी ने प्रदेश में व्याप्त भ्रष्टाचार पर प्रहार करते हुए युवाओं से कहा कि भ्रष्टाचार को राजस्थान से विदा करने का वादा करें। जब तक युवा राजस्थान से भ्रष्टाचार को विदा करने का वादा नहीं करेगा तब तक प्रदेश में युवाओं को एक भी रोजगार नहीं मिलेगा। इससे पहले तिवारी को पार्टी आलाकमान से अनुशासनहीनता के आरोप में नोटिस मिलने की खबर सामने आने के बाद तिवारी के समर्थक सुबह से ही उनके आवास पर जुटने लगे थे। समर्थक तिवाड़ी के समर्थन में नारे लगा रहे थे।

इधर भाजपा सूत्रों ने भाजपा विधायक घनश्याम तिवाड़ी को पार्टी आलाकमान की ओर से अनुशासनहीनता को लेकर नोटिस जारी होने की पुष्टि करते हुए कहा कि तिवारी जी को नोटिस जारी किया गया है, नोटिस मिल गया होगा या मिल जायेगा। उन्होंने इससे अधिक कुछ भी बात कहने से इंकार कर दिया। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं विधायक अशोक परनामी से इस बारे में सम्पर्क किया गया लेकिन संगठनात्मक बैठकों में व्यस्त होने की जानकारी दी गई। भाजपा का प्रदेश नेतृत्व नोटिस को लेकर मौन है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App