ताज़ा खबर
 

राजस्‍थान: मंत्री का बयान- रफाल पाकिस्‍तान को नहीं मिला इसलिए बदहवास हैं राहुल गांधी

राजस्थान सरकार में कैबिनेट मिनिस्टर जसवंत सिंह यादव राहुल गांधी के खिलाफ विवादित बयान दिया है।

Author Updated: October 15, 2018 3:50 PM
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

रफाल डील पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार को चौतरफा घेरने में जुटे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ राजस्थान सरकार में कैबिनेट मिनिस्टर जसवंत सिंह यादव ने विवादित बयान दिया है। शनिवार (13 अक्टूबर, 2018) को अलवर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए जसवंत यादव ने कहा कि ‘रफाल सौदा हुआ। ये लड़ाकू विमान है जो बहुत मुश्किल के बाद हासिल कए जाते हैं। पाकिस्तान इन्हें हासिल नहीं कर सका। राहुल गांधी जी के इसलिए पेट में दर्द है, चूंकि इन्हें मोदी ने हासिल कर लिया। रफाल डील पर फ्रांस को भी बोलना पड़ा की राहुल कब तक झूठ का साहरा लेंगे। राहुल गांधी कहते हैं कि मोदी चोर है, सच तो यह है राहुल के बाप-दादा चोर हैं।’ भाजपा नेता ने राहुल गांधी पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा, ‘राहुल गांधी कहते हैं कि हिंदू उग्रवादी होते हैं। प्रधानमंत्री बनकर ऐसा आदमी क्या करेगा? वह भारत के लोगों से कहते हैं कि हिंदू आतंकवादी होते। इसका मतलब क्या है। अगर आप पाकिस्तान को खुश करना चाहत हैं तो हमारा अपमान क्यों कर रहे हैं?’ उन्होंने आगे कहा कि इनकी एक-एक रग में पाकिस्तान है और उसके लोग हैं। एक-एक विचार उनके पाकिस्तान के हैं।

बता दें कि रफाल लड़ाकू विमानों की जंग को हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के द्वार पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि मोदी सरकार ने फ्रांस की विमान निर्माता कंपनी दसॉ के साथ ऑफसेट अनुबंध को हटाकर सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम के भविष्य का अपमान किया है, कष्ट पहुंचाया है और उसे तबाह कर दिया है। एचएएल के करीब 100 पूर्व व वर्तमान कर्मचारियों के साथ घंटे भर चली बातचीत में राहुल ने निजी कंपनी की विश्वसनीयता और अनुभव पर भी सवाल उठाया, जिसे 30 हजार करोड़ रुपए का ऑफसेट अनुबंध हासिल हुआ है। राहुल गांधी ने कहा कि एचएएल, इसरो और डीआरडीओ जैसे संस्थान आधुनिक भारत के मंदिर हैं, जिन्हें भ्रष्टाचार में संलिप्त मोदी सरकार द्वारा नष्ट किया जा रहा है।

उन्होंने कहा, “सरकार में एक बहुत वरिष्ठ व्यक्ति ने एचएएल की क्षमता को लेकर सवाल उठाया। मैंने उनसे पूछा कि अनिल अंबानी की कपंनी की क्षमता क्या है, जिसे अनुबंध हासिल हुआ है? इस व्यक्ति का एयरोनॉटिक्स में क्या अनुभव है? एचएएल की क्षमता हम सभी के सामने है। आपने एचएफ-24, मिग, सुखोई और तेजस का निर्माण किया है। सार्वजनिक क्षेत्र इस देश और रक्षा क्षेत्र की रीढ़ है।” (एजेंसी इनपुट सहित)

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories