ताज़ा खबर
 

राजस्थान के चायवाले ने बेटी को दिया 1.51 करोड़ का दहेज, आयकर विभाग ने भेजा समन

आयकर विभाग ने बुधवार को कार्यालय आकर गुर्जर से शादी में किए गए इतने खर्चे को लेकर जवाब देने को कहा लेकिन वह वहां नहीं पहुंचा।
Author कोठपुतली | April 13, 2017 10:38 am
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

अपनी बेटियों की शादी में 1.51 करोड़ रुपए का दहेज देकर एक चायवाला आयकर विभाग की नजर में आ गया है। लीला राम गुर्जर नाम का यह व्यक्ति हडुआता के पास कोठपुतली क्षेत्र में एक चाय की दुकान लगाता है। इसने 4 अप्रेल को अपनी 6 बेटियों की शादी की थी, जिसमें गुर्जर ने 1.51 करोड़ रुपए का दहेज दिया। इस शादी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया जिसके बाद यह चायवाला सुर्खियों में आ गया है। इस मामले के सामने आने के बाद आयकर विभाग ने मंगलवार को लीला राम गुर्जर का समन भेजा। फिलहाल गुर्जर का पूरा परिवार लापता है। पुलिस उनकी तलाश कर रही है।

आयकर विभाग ने बुधवार को कार्यालय आकर गुर्जर से शादी में किए गए इतने खर्चे को लेकर जवाब देने को कहा लेकिन वह वहां नहीं पहुंचा। आयकर विभाग का कहना है कि हम गुरुवार तक उसके जवाब का इंतजार करेंगे। विभाग का कहना है कि गुर्जर से इस मामले में पूछताछ की जाएगी। हम यह भी जांच करेंगे कि वह अपना टैक्स रिजर्न भरता है या नहीं। अगर दहेज की रकम उसकी आय से अधिक पाई जाती है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा गुर्जर से उसकी आय से संबंधित दस्तावेजों को दिखाने के लिए भी कहा जाएगा।

गुर्जर दहेज की वजह से ही सुर्खियों में नहीं है। गुर्जर पर आरोप है कि उसने अपनी जिन बेटियों की शादी की है उनमें से चार लड़की नाबालिग हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार गुर्जर ने अपनी दो बड़ी बेटियों के नाम के ही शादी के निमंत्रण कार्ड छपावाए थे लेकिन उसने 4 नाबालिग बेटियों की भी शादी कर दी। कोठपुटली पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बताया कि हम गुर्जर के घर गए थे लेकिन उसका पूरा परिवार गायब है। उनके रिश्तेदारों को थाने में पूछताछ के लिए बुलवाया गया है। अधिकारी ने बताया कि गुर्जर और उसके परिवार की तलाश के लिए हमारी टीम जगह-जगह पर दाबिश दे रही है और जल्द ही उन्हें हिरासत में ले लिया जाएगा।

देखिए वीडियो - राजस्थान: अलवर में गौ-रक्षकों ने गायों की तस्करी के शक में कुछ लोगों को जमकर पीटा, 1 की मौत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.