ताज़ा खबर
 

तुम मेरी नहीं तो किसी और की नहीं होने दूंगा- यह कह कर पड़ोसी ने 18 साल की लड़की को चाकुओं से मार डाला

18 साल की नेहा शर्मा (बदला हुआ नाम) ने यह कभी नहीं सोचा होगा कि वह किसी सनकी आशिक के निशाने पर होगी, जो एक दिन उसकी जान ले लेगा।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर। (Source: Agency)

राजस्थान में कथित तौर एक सिरफिरे आशिक ने एकतरफा प्यार में एक लड़की को मौत के घाट उतार दिया। 18 साल की नेहा शर्मा (बदला हुआ नाम) ने इसी साल 12वीं कक्षा की परीक्षा पास की थी और आगे उच्च शिक्षा हासिल करने के सपने देख रही थी। लेकिन उसने यह कभी नहीं सोचा होगा कि वह किसी सनकी आशिक के निशाने पर होगी, जो एक दिन उसकी जान ले लेगा। इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक, बुधवार (2 अगस्त) की दोपहर को नेहा अपने घर में थी। तभी उसकी नजर पड़ोसी जगदीश पर पड़ती है, जो घर की दीवार फांदकर अंदर दाखिल होता है।

इससे पहले की नेहा कुछ समझ पाती, जगदीश उसके करीब पहुंचकर, उसकी गर्दन पर चाकू से कई वार कर, उसे लहूलुहान कर देता है। मामला राजस्थान के बांसवाड़ा इलाके में स्थित अगरपुरा कालोनी का है। वारदात के समय लड़की के पिता घर की दूसरी मंजिल पर मौजूद थे। खबर के मुताबिक, लड़की के पिता दिव्यांग हैं। जब तक वह(पिता) मौका-ए-वारदात पर पहुंचे, तब तक जगदीश फरार हो चुका था। इसके बाद खून में सनी अपनी बेटी को वह किसी तरह अपने पड़ोसियों की मदद से अस्पताल लेकर गए, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। अस्पताल पहुंचने से पहले ही नेहा ने दम तोड़ दिया था। रिश्तेदारों ने पुलिस को बताया कि नेहा पहले भी उनसे जगदीश की ईव टीजिंग जैसी हरकतों की शिकायत कर चुकी थी।

पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए तुरंत सर्च ऑपरेशन शुरू किया। शाम तक जगदीश को दबोच लिया गया। आरोपी जगदीश ने पहले तो पुलिस को कुछ बताने से इंकार कर दिया लेकिन बाद में उसने अपना जुर्म कुबूल कर लिया। उसने पुलिस को बताया कि वह नेहा के प्यार में पागल था। अपना जुर्म कुबूलते हुए जगदीश ने पुलिस से कहा, “अगर वह मेरी नहीं हो सकती थी, तो मैं उसे किसी और का भी नहीं होने दे सकता था।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.